वाशिंगटन, पीटीआइ। विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन (WHO) और फ्रांस ने भले ही भारतीय दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन खारिज कर दिया हो, लेकिन अमेरिकी राष्‍ट्रपति इस दवा का सेवन करके बेहद बेहतर महसूस कर रहे हैं। व्हाइट हाउस की एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प मलेरिया रोधी दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन की दो सप्ताह तक खुराक लेने के बाद 'बेहद बेहतर' महसूस कर रहे हैं। यदि उन्हें लगता है कि वह कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आए हैं, तो वह दोबारा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन का उपयोग करेंगे।

दरअसल, हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन को लेकर इस समय दुनियाभर में एक बहस छिड़ी हुई है। भारत और कई अन्‍य देश इसका इस्‍तेमाल कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों पर कर रहे। इसके परिणाम भी अच्‍छे आ रहे हैं। हालांकि, मलेरिया की रोकथाम और उसके उपचार के लिए इस्तेमाल की जाने वाली हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन को अमेरिकी खाद्य एवं औषधि प्रशासन (एफडीए) ने कोविड-19 के उपचार के लिए मंजूरी नहीं दी है। लेकिन इसे संक्रमण के संभावित उपचार के तौर पर पहचाना गया है और अमेरिका सरकार ने इसकी तत्काल उपलब्धता का अनुरोध किया है।

अमेरिकी राष्‍ट्रपति ट्रंप ने कोरोना वायरस से निपटने में हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन को 'पासा पलट देने वाली' दवा करार दिया है। व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव केयलेग मैकेननी से जब गुरुवार को पूछा गया कि मलेरिया रोधी दवा लेने के बाद ट्रंप कैसा महसूस कर रहे हैं, तो उन्होंने कहा, 'मैं यहां आने से पहले ही उनसे मिली थी और मैंने उनसे यही सवाल पूछा था। उन्होंने कहा- वह बहुत बढ़िया महसूस कर रहे हैं।' साथ ही उन्‍होंने बताया कि यदि राष्‍ट्रपति ट्रंप को लगता है कि वह संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आए हैं, तो वह दोबारा यह दवा लेंगे।'

मैकेननी ने एक अन्य प्रश्न के उत्तर में कहा कि कई चिकित्सक और अनुसंधानकर्ता हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन के समर्थन में आगे आ रहे हैं। हालांकि, उन्‍होंने साथ ही सलाह दी कि यदि कोई हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन लेना चाहता है, तो उसका चिकित्सक से सलाह लेना महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा, 'न्यूयॉर्क में एक महामारी रोग विशेषज्ञ और परीक्षण कर रहे अन्य लोगों ने कहा है कि उन्हें इस दवा से जुड़े मिथकों के कारण लोगों को परीक्षण के काम में नियुक्त करने में दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। इसलिए यह समझना जरूरी है कि लाखों लोग लंबे समय से इस दवा का उपयोग कर रहे हैं और यह सुरक्षित है।' ट्रम्प ने इस माह की शुरुआत में बताया था कि वह कोरोना वायरस से बचाव के लिए हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन ले रहे हैं।

गौरतलब है कि हाल ही में डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने एक ऑनलाइन प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में बताया कि दवाओं के ट्रायल में शामिल लोगों के डाटा का परीक्षण करने वाले बोर्ड की समीक्षा के बाद एचसीक्यू का परीक्षण अस्थाई रूप से बंद करने का निर्णय लिया गया है। जिन लोगों पर अन्य दवाओं के परीक्षण चल रहे हैं वे फिलहाल जारी रखेंगे।

Posted By: Tilak Raj

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस