काबुल, एएनआइ। अमेरिका की अंतरराष्ट्रीय विकास के लिए काम करने वाली एजेंसी (United States Agency for International Development, USAID) ने एलान किया है कि 2022 में अमेरिका की सरकार 308 मिलियन डालर यानि 30.8 करोड़ डालर से अधिक का योगदान अफगानिस्तान को देगी। USAID रिलीज के अनुसार राष्ट्रपति जो बाइडन ने स्पष्ट कर दिया है कि यह मानवीय सहायता अफगान की जनता तक सीधे ही पहुंचाई जाएगी। बता दें कि अफगानिस्तान की जनता के लिए सबसे अधिक मानवीय सहायता उपलब्ध कराने वाला एकमात्र देश अमेरिका ही रहा है।

अमेरिका ने अफगानिस्तान के लिए 30.8 करोड़ डालर अतिरिक्त मानवीय सहायता की घोषणा की है। इस सहायता ऐसे समय घोषित की गई है, जब तालिबान के कब्जे के करीब पांच महीने बाद देश गंभीर मानवीय संकट से जूझ रहा है। व्हाइट हाउस की प्रवक्ता एमिली हार्ने ने मंगलवार को जारी बयान में कहा कि USAID से नई मदद स्वतंत्र मानवीय संगठनों के जरिये दी जाएगी, जिसे आश्रय, स्वास्थ्य, सर्दियों से बचने में सहायता, आपात खाद्य सहायता, पानी और स्वच्छता सेवा पर खर्च किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि USAID ने तालिबान से सहायता कर्मियों, खासतौर पर महिलाओं को स्वतंत्र और सुरक्षित तरीके से काम करने देने का आह्वान किया है ताकि मानवीय समूह पीड़ितों की सहायता कर सकें। एजेंसी ने यह भी कहा कि अमेरिका तालिबान से निर्बाध मानवीय सहायता को बनाए रखने और मानवीय कार्यों के लिए सुरक्षित माहौल बनाने, सभी असुरक्षित लोगों तक स्वतंत्र रूप से सहायता पहुंचाने के प्रावधान और सभी लिंग के सहायता कर्मियों की आवाजाही सुनिश्चित करने की मांग करना जारी रखेगा।

इस नई मदद के साथ ही अगस्त के बाद से अब तक अमेरिका द्वारा 78 करोड़ डॉलर की सहायता अफगानिस्तान के लिए घोषित की जा चुकी है। संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक अफगानिस्तान की 3.8 करोड़ आबादी में से 22 प्रतिशत अकाल की स्थिति का और अन्य 36 प्रतिशत गंभीर खाद्य असुरक्षा का सामना कर रही है।

Edited By: Monika Minal