वाशिंगटन, प्रेट्र। अमेरिका योग्य एच1बी वीजा आवेदकों के लिए दूसरी लॉटरी का आयोजन करने जा रहा है। इस फैसले से सकड़ों भारतीय आईटी पेशेवरों को दूसरा मौका मिलेगा, जो पहले चयन में एच1बी वीजा नहीं पा सके थे। अमेरिकी नागरिकता एवं आव्रजन सेवा (USCIS) की ओर से यह जानकारी दी गई है।  नए ड्रॉ के लिए आवेदन दो अगस्त से तीन नवंबर तक किए जा सकेंगे।

दूसरी लॉटरी का हो रहा आयोजन 

USCIS ने कहा कि इस साल की शुरुआत में आयोजित एच-1बी वीजा के लिए कम्प्यूटरीकृत ड्रॉ के दौरान उन्हें कांग्रेस से मंजूरी प्राप्त एच-1बी वीजा की पर्याप्त संख्या नहीं मिली थी। इसलिए दूसरे ड्रॉ का फैसला किया गया। एच1बी वीजा एक गैर-अप्रवासी वीजा है जिसकी मदद से अमेरिकी कंपनियां सैद्धांतिक या तकनीकी विशेषज्ञता की जरूरत वाले विशिष्ट पेशों में विदेशी कर्मियों को नौकरियों पर रखती हैं। प्रौद्योगिकी कंपनियां हर साल भारत और चीन जैसे देशों से हजारों लोगों को नियुक्त करने के लिए इस वीजा पर निर्भर करती है।

2022 के वित्त वर्ष तक अतिरिक्त आवेदनों का चयन

 USCIS ने एक बयान में कहा कि हमने हाल ही में निर्णय लिया है कि हमें 2022 के वित्त वर्ष तक अतिरिक्त आवेदनों का चयन करने की आवश्यकता है।  संघीय एजेंसी ने कहा कि केवल वित्त वर्ष 2022 के लिए वैकल्पिक पंजीकरण वाले आवेदक ही एच-1बी वर्क वीजा के लिए आवेदन करने के पात्र होंगे। वित्त वर्ष 2022 के लिए पंजीकरण करने वालों के लिए पहली आवेदन अवधि एक अप्रैल, 2021 से 30 जून, 2021 तक थी।

समय सीमा के भीतर दायर किया जाना चाहिए आवेदन

USCIS ने कहा कि एच-1बी आवेदन एक वैध सेवा प्रदाता के पास और प्रासंगिक पंजीकरण नोटिस पर सूचीबद्ध समय सीमा के भीतर दायर किया जाना चाहिए। एच-1बी आवेदनों के लिए आनलाइन आवेदन उपलब्ध नहीं हैं। आवेदन लिखित रूप में किया जाना चाहिए और इसके साथ पंजीकरण विकल्प की एक प्रति शामिल होनी चाहिए।

Edited By: Monika Minal