वाशिंटन, पीटीआइ। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने अपने फ्रांस के समकक्ष इमैनुएल मैक्रों द्वारा चीन, रूस व अमेरिका जैसे देशों से अपनी सुरक्षा के लिए दिए गए अलग 'यूरोप सेना' के प्रस्ताव को 'अपमानजनक' बताया है।

दरअसल, बीते दिनों फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने फ्रेंच रेडियो स्‍टेशन वन को दिए एक इंटरव्‍यू में कहा था कि यूरोप को रूस, चीन व चीन से बचने के लिए एक सच्ची यूरोपीय सेना गठित करने की जरूरत महसूस हो रही है। इसके बाद अमेरिका सहित कई देशों ने मैक्रों के इस बयान की आलोचना की।

उधर अमेरिका ने मैक्रों के इस बयान को अपमानजनक बताया। ट्रंप ने ट्वीट कर कहा, 'फ्रांस के राष्ट्रपति का कहना है कि यूरोप को खुद को अमेरिका, चीन व रूस से बचाने के लिए एक सेना बनाने की जरूरत है। यह बहुत 'अपमानजनक' है। लेकिन शायद यूरोप को पहले नाटो को लेकर उचित भुगतान करना चाहिए, जिसमें अमेरिका काफी सब्सिडी देता है।'

गौरतलब है कि फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने पिछले साल सत्ता में आने के बाद से ही यूरोपीय सहयोगियों के बीच रक्षा सहयोग के लिए दबाव बनाते रहे हैं। लेकिन यूरोपीय संघ के अन्य सदस्य राज्यों द्वारा इस मामले में ज्‍यादा दिलचस्‍पी नहीं दिखाने की वजह से अब तक मैक्रों को इस मामले में पूर्ण सफलता नहीं मिल सकी है।

Posted By: Tilak Raj

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप