वाशिंगटन, प्रेट्र। मीडिया में आई खबरों के करीब डेढ़ महीने बाद अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आतंकी ओसामा बिन लादेन के बेटे हमजा बिन लादेन के मारे जाने की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि अफगान-पाक सीमा पर अमेरिका के आतंकरोधी अभियान में हमजा मारा गया। खुफिया अधिकारियों के हवाले से जुलाई के आखिर में मीडिया में हमजा की मौत की खबरें आई थीं।

ट्रंप ने शनिवार को कहा, 'अल कायदा का प्रमुख आतंकी और ओसामा बिन लादेन का बेटा हमजा बिन लादेन अफगान-पाक क्षेत्र में मारा गया। इससे न केवल अल कायदा के नेतृत्व पर असर पड़ेगा, बल्कि उसकी गतिविधियां भी कमजोर पड़ेंगी।

हमजा की मौत के बाद ओसामा बिन लादेन से अल कायदा का सांकेतिक जुड़ाव भी खत्म हुआ है। हमजा कई आतंकी षड्यंत्र रचने और विभिन्न आतंकी संगठनों से संपर्क साधने में भूमिका निभा रहा था।' ट्रंप ने यह नहीं बताया कि हमजा ठीक किस जगह पर मारा गया। हमजा की मौत की खबरें जुलाई के आखिर में और अगस्त की शुरुआत में आई थीं।

उस समय ट्रंप ने इस बात की पुष्टि से इन्कार कर दिया था कि उसकी मौत में अमेरिका की भूमिका है या नहीं। द न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक, हमजा की उम्र तकरीबन 30 साल थी। अल कायदा की ओर से 2018 में उसका आखिरी सार्वजनिक बयान सामने आया था। बयान में उसने सऊदी अरब को धमकी दी थी और अरब प्रायद्वीप के लोगों से विद्रोह की अपील की थी।

सऊदी अरब ने इस साल मार्च में हमजा की नागरिकता रद करने का एलान किया था। इस साल की शुरुआत में अमेरिका ने हमजा को अल कायदा का उभरता आतंकी बताते हुए उस पर लाखों डॉलर का इनाम घोषित किया था। हमजा का पिता ओसामा बिन लादेन 2011 में पाकिस्तान के एबटाबाद में अमेरिकी नेवी सील के हाथों मारा गया था।

वह सितंबर, 2001 में अमेरिका के ट्विन टावर्स पर हुए आतंकी हमले का मुख्य षड्यंत्रकारी था। एबटाबाद में ओसामा के ठिकाने से जब्त दस्तावेजों से यह संकेत मिला था कि ओसामा अपने बेटे हमजा को अल कायदा में अपने उत्तराधिकारी के तौर पर तैयार कर रहा था। हमजा ने अल कायदा के एक बड़े आतंकी की बेटी से निकाह किया था।

 

Posted By: Nitin Arora

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप