बॉस्टन, एपी। ईरान पर अमेरिका ने कई गंभीर आरोप लगाए हैं। अमेरिकी अधिकारियों ने मंगलवार रात एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में कहा कि ईरान, अमेरिकी मतदाताओं को धमकाने तथा कई राज्यों में अशांति के लिए जिम्मेदार है। वहीं, ईरान एवं मास्को ने चुनाव में हस्तक्षेप करने के लक्ष्य से कुछ मतदाता पंजीकरण डाटा भी हासिल किये हैं ।

अमेरिकी खुफिया विभाग के निदेशक जॉन रैटक्लिफ और एफबीआई के निदेशक क्रिस रे ने कहा कि अमेरिका 2020 अमेरिकी चुनाव में हस्तक्षेप करने वाले देशों पर जुर्माना लगाएगा। उन्होंने कहा कि ईरान और रूस की इस हरकत के बावजूद अमेरिकी भरोसा रखें की उनका मत सुरक्षित है। रैटक्लिफ ने कहा, 'यह हताश विरोधियों द्वारा की गई हताशा भरी कार्रवाई है।'

बता दें कि फ्लोरिडा और पेंसिल्वेनिया सहित चार बैटलग्राउंड स्टेट में डेमोक्रेटिक मतदाताओं को धमकी भरे ईमेल मिलने के बाद यह संवाददाता सम्मेलन बुलाया गया था।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस