वाशिंगटन, एजेंसी। एक अमेरिकी सांसद ने कोविड-19 संकट के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यो की विशेष सराहना की है। साथ ही यह भरोसा भी जताया कि सभी भारतीय इस चुनौती से उबर जाएंगे। इसके अलावा, पिछले कुछ हफ्तों से कोरोना की दूसरी लहर के दौरान भारत में लोगों की मदद के लिए अमेरिकियों ने पार्टी विचारधाराओं से परे जाकर एकजुट सहायता की है।

वैश्विक महामारी से मुकाबले के लिए भारत को मिला समर्थन

अमेरिकी सांसद जो विल्सन ने बुधवार को अमेरिका और भारत के बीच विशेष साझेदारी का जिक्र करते हुए कहा कि वह इस वैश्विक महामारी से मुकाबले के लिए भारत को जरूरी उपकरण भेजे जाने का पूरा समर्थन करते हैं। उन्होंने कहा कि हमारी सहानुभूति भारतीयों के साथ है जो वैश्विक महामारी की चुनौतियों का सामना कर रहे हैं। उन्होने कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इस भीषण संकट के दौरान सराहना करते हैं। विल्सन ने कहा कि भारत पर सदन के काकस में भारतीय और अमेरिकी-भारतीय मित्र हैं। भारत के मित्र के रूप में मेरे विचार और सहानुभूति भारत के साथ है। मुझे पूरा विश्वास है कि वह इन चुनौतियों से भी उबर जाएंगे।

दलगत मतभेद भुलाकर भारत की मदद करने को एकजुट हुए नेता

अमेरिकी सांसद ने कहा कि यह समय भारत के लोगों की जरूरतों का ख्याल रखने का है। अभी उन लोगों की पहचान करना जरूरी है जो मदद कर रहे हैं। उन्होंने कहा कारपोरेट जगत के भी सफल सहयोग से करीब बीस लाख डालर के चिकित्सा उपकरण और आपूर्ति भारतीय परिवारों के लिए की गई है। यह देखने में आ रहा है कि अमेरिका में दो मुख्य राजनीतिक दलों डेमोक्रैटिक और रिपब्लिकन के सभी प्रमुख सांसद दलगत मतभेद भुलाकर भारत की मदद करने को एकजुट हैं। पूरा अमेरिकी प्रशासन और कारपोरेट जगत मिलकर सरकारी और निजी तौर पर एक दूसरे देश की मदद को तत्पर हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन खुद भी निजी रूप से इस सहायता मुहिम में रुचि ले रहे हैं।

Edited By: Ramesh Mishra