वाशिंगटन, एपी। US Elections 2020, मेल के जरिये वोटिंग की कल तक आलोचना कर रहे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अचानक यू-टर्न ले लिया है। वे कांटे की लड़ाई वाले प्रांत फ्लोरिडा के मतदाताओं को इसके लिए प्रोत्साहित करते नजर आए। इस प्रांत में डेमोक्रेट प्रत्याशी का पलड़ा भारी नजर आ रहा है। ट्रंप ने ट्वीट में कहा, 'आप इसे मेल के जरिये वोट कह सकते हैं या फिर गैरहाजिर मतदान। फ्लोरिडा की मतदान व्यवस्था सुरक्षित, जांची-परखी और विश्वसनीय है। इसी कारण फ्लोरिडा में मैं सबसे कह रहा हूं कि वे मेल के जरिये वोटिंग के लिए अनुरोध करें।'

ट्रंप ने यह भी साफ-साफ कहा कि वे केवल फ्लोरिडा में इसका समर्थन कर रहे हैं, किसी और राज्य में नहीं।व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव कायले मैकनेनी ने इस धारणा को खारिज कर दिया कि राष्ट्रपति का नजरिया बदल गया है। बकौल मैकनेनी, राष्ट्रपति एक विशेष कारण से गैरहाजिर रहने वालों के लिए मेल द्वारा वोटिंग का समर्थन कर रहे हैं। वे प्रांतों द्वारा सभी मतदाताओं के लिए इस व्यवस्था का विरोध कर रहे हैं, चाहे किसी ने इसके लिए आग्रह किया हो या न किया हो। ज्यादातर चुनाव अधिकारियों का कहना है कि इन दोनों बातों में कोई खास अंतर नहीं है।

डेमोक्रेट जीते तो ग्रीन कार्ड और H1बी वीजा से रोक हटेगी

तीन नवंबर को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव के बाद अगर डेमोक्रेटिक पार्टी सत्ता में आई तो वह ग्रीन कार्ड पर लगी रोक हटा देगी और लंबित अर्जियों का निपटारा करने के लिए प्रभावी कदम उठाएगी। ये बातें '2020 डेमोक्रेटिक पार्टी प्लेटफार्म' में कही गई हैं। यह कमोबेश वैसा ही है, जैसा भारत में चुनावी घोषषणापत्र होता है। 90 पृष्ठों के इस घोषषणापत्र को विस्कॉन्सिन में पार्टी के राष्ट्रीय सम्मेलन में मंजूरी दी जाएगी। 17 से 20 अगस्त तक चलने वाले इस सम्मेलन में जो बिडेन को औपचारिक रूप से राष्ट्रपति पद का प्रत्याशी नामित किया जाएगा।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021