वाशिंगटन, एएफपी। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (US Donald Trump) ने अपने खिलाफ महाभियोग की जांच (impeachment inquiry) को लिंचिंग (पीट-पीटकर मार डालने) से जोड़ा है। 'लिंचिंग' शब्द अमेरिका में गुलामों के साथ बर्बर व्यवहार की याद दिलाता है। इसी वजह से कई नेताओं ने ट्रंप की आलोचना की है। ट्रंप ने एक ट्वीट कर कहा कि महाभियोग अनुचित है और यह उनके कानूनी अधिकार वापस लेने जैसा है।

ट्रंप की इस टिप्पणी पर तरह-तरह की प्रतिक्रिया आई है। ट्रंप ने ट्वीट किया, 'सभी रिपब्लिकनों को एक बात याद रखनी चाहिए कि जिसके वह यहां गवाह बन रहे हैं, वह लिंचिंग है। हालांकि जीत हमारी ही होगी।' नेशनल लॉयर्स कमेटी फॉर सिविल राइट्स अंडर लॉ की अध्यक्ष क्रिस्टेन क्लार्क ने कहा कि ट्रंप द्वारा आज इस शब्द का सरासर दुरुपयोग देखकर उन्हें घृणा हो रही है। क्लार्क ने कहा कि 1882 से 1968 के बीच अमेरिका में 4743 लोगों की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी। इसमें 3446 लोग अफ्रीकी मूल के अमेरिकी थे। उन्होंने कहा, 'पीट-पीटकर मार डालना (लिंचिंग) मानवता के खिलाफ अपराध और नस्ली हिंसा के हमारे देश के इतिहास का काला अध्याय है।'

डेमोक्रेटिक नेता जूलियन कास्ट्रो ने कहा, 'यह बेहद शर्मनाक है कि जब आपको आपकी कार्रवाई के लिए जवाबदेह बनाया जा रहा है तो आप लिंचिंग शब्द का इस्तेमाल कर रहे हैं।' पद के कथित दुरुपयोग के लिए ट्रंप को डेमोक्रेटिक दबदबे वाली प्रतिनिधि सभा में महाभियोग का सामना करना पड़ सकता है। व्हाइट हाउस द्वारा जांच में सहयोग नहीं करने के फैसले के बावजूद मंगलवार को डेमोक्रेटस ने यूक्रेन के कार्यवाहक राजदूत बिल टेलर की बंद कमरे में गवाही ली। गवाही के दौरान उन्होंने कीव के खिलाफ ट्रंप के दबाव अभियान के बारे में बताया। 

बता दें कि इससे पहले अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ने कहा था कि यह पहले से तय है कि डेमोक्रेटिक सदस्यों की अगुआई वाली प्रतिनिधि सभा महाभियोग को लेकर उनके खिलाफ मतदान करेगी। उल्‍लेखनीय है कि अमेरिकी राष्‍ट्रपति ट्रंप पर पद के दुरुपयोग को लेकर महाभियोग की जांच चल रही है। उनके खिलाफ अगले राष्ट्रपति चुनाव में अपने प्रबल प्रतिद्वंद्वी जो बिडेन के खिलाफ भ्रष्टाचार की जांच शुरू करने के लिए यूक्रेन के राष्ट्रपति पर दबाव डालने का आरोप है। उन्‍होंने अपनी दल रिपब्लिकन पार्टी के सदस्यों से समर्थन देने की अपील की है।

Posted By: Krishna Bihari Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप