वाशिंगटन, एएफपी। अमेरिकी रक्षा मंत्रालय पेंटागन ने चेतावनी दी है कि ईरान समर्थित कातेब हिज्बुल्लाह संगठन आने वाले दिनों में कुछ और अमेरिकी ठिकानों पर हमला कर सकता है। इसी संगठन पर मंगलवार को बगदाद स्थित अमेरिकी दूतावास पर हमले का आरोप है।

रक्षा मंत्री मार्क एस्पर ने कहा कि कई महीनों से संगठन का आक्रामक रुख नजर आ रहा है। इसलिए लग रहा है कि आने वाले दिनों में वह कुछ और अमेरिकी ठिकानों पर हमले कर सकता है। लेकिन इसके लिए उन्हें बाद में अफसोस होगा, क्योंकि अमेरिका उन्हें छोड़ेगा नहीं। एस्पर ने कहा, हम आत्मरक्षा के लिए अभ्यास कर रहे हैं। हम उन सभी समूहों के खिलाफ कार्रवाई की तैयारी कर रहे हैं जो हमारे साथ गलत व्यवहार करेंगे। इसके लिए ईरान से हर तरह की मदद पाने वाले संगठनों के खिलाफ कार्रवाई होगी।

रक्षा मंत्री एस्पर ने कहा, हमें जो संकेत मिले हैं उनके अनुसार ईरान समर्थित संगठन अमेरिकी ठिकानों पर नए हमलों की तैयारी कर रहे हैं। हमले के अनुसार ही अमेरिका उसका जवाब देगा। अगर हमें खतरे के पूर्वाभास हो गया तो हम पहले हमला कर अमेरिका को होने वाले नुकसान को बचा भी सकते हैं। मंगलवार को बगदाद स्थित उच्च सुरक्षा वाले अमेरिकी दूतावास परिसर के भीतर आंदोलनकारियों के पहुंचने के बाद अमेरिका ने खाड़ी क्षेत्र में सैकड़ों कमांडो भेज दिए हैं, जो किसी भी आपातस्थिति में तत्काल जवाबी कार्रवाई करेंगे।

अमेरिकी दूतावास पर हुए हमले के बाद अमेरिका की कार्रवाई

अमेरिका ने शुक्रवार को बगदाद एयरपोर्ट पर एक एयर स्‍ट्राइक की जिसमें ईरान समर्थित कुर्द बल के प्रमुख मेजर जनरल कासिम सुलेमानी की मौत हो गई। रिपोर्टों में कहा गया है कि सुलेमानी का काफिला बगदाद एयरपोर्ट की ओर बढ़ रहा था तभी एक रॉकेट हमले की जद में आ गया। हमले में ईरान समर्थित मिलिशिया पॉपुलर मोबलाइजेशन फोर्स के डिप्टी कमांडर अबू महदी अल-मुहांदिस की भी मौत हो गई। बताया गया कि कुल इस हमले में आठ लोगों की मौत हुई है।

Posted By: Nitin Arora

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस