वाशिंगटन (रायटर)। उत्तर कोरिया के साथ बना गतिरोध शांतिपूर्ण उपायों से दूर होने की संभावना अब नजर नहीं आती। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन को बातचीत में समय नष्ट न करने की हिदायत दी है, साथ ही अन्य उच्च अधिकारियों से भी कहा है कि वे उत्तर कोरिया से बातचीत के लिए परेशान न हों। इससे पहले टिलरसन ने उत्तर कोरिया से हथियार नियंत्रण पर बातचीत शुरू होने की संभावना जताई थी।

इससे पहले ट्रंप ने ट्वीट कर कहा कि उनके पूर्ववर्ती बिल क्लिंटन, जॉर्ज डब्ल्यू बुश और बराक ओबामा उत्तर कोरिया मसले पर असफल रहे। रॉकेट मैन (किम जोंग उन) ने सभी को उलझाए रखा। इस अब भी क्यों जारी रखा जाना चाहिए? सन 2011 में सत्ता संभालने के बाद किम जोंग उन ने सभी अमेरिकी नेताओं को बातचीत में लगाए रखा, साथ ही हथियारों का विकास भी जारी रखा।

इस बार भी अमेरिका और चीन ने उत्तर कोरिया से बातचीत शुरू करने की पेशकश की थी लेकिन उसने साफ कर दिया कि वह अपनी परमाणु ताकत के साथ कोई समझौता करने को तैयार नहीं है। इसके बावजूद टिलरसन ने दो-तीन माध्यमों से बातचीत के प्रयास जारी होने की बात कही थी। लेकिन ट्रंप ने टिलरसन को अपनी ऊर्जा बर्बाद न करने की हिदायत दी है।

ट्रंप के रुख से साफ हो गया है कि अमेरिका अब समस्या का बातचीत से निदान का विकल्प छोड़ चुका है। अब आर्थिक प्रतिबंध के जरिये दबाव बढ़ाने और सैन्य कार्रवाई के विकल्प ही बाकी बचे हैं। लेकिन चीनी विदेश मंत्रालय ने कहा है कि वह बातचीत से समस्या के निदान का पक्षधर है।

यह भी पढ़ें: पूरी तैयारी के बाद भी उत्तर कोरिया पर हमला करने से पीछे हट गए थे US प्रेजीडेंट

यह भी पढ़ें: जंग छिड़ी तो महज 24 घंटों में सियोल को तबाह कर देगा उत्तर कोरिया

Posted By: Kishor Joshi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस