संयुक्त राष्ट्र, प्रेट्र। संयुक्त राष्ट्र (UN) महासभा की अध्यक्ष मारिया फर्नाडा एस्पिनोसा ने भारत में भयंकर बाढ़ से हुई मौत की घटनाओं पर दुख व्यक्त किया है। यूएन महासभा की अध्यक्ष की प्रवक्ता मोनिका ग्रेलेय ने बताया कि एस्पिनोसा ने भारतीय सरकार और वहां के लोगों को संदेश भेजकर बाढ़ से हुई मौत पर सहानुभूति प्रकट की है।

ग्रेलेय ने आगे कहा कि अध्यक्ष ने इस कठिन परिस्थिति में प्राकृतिक आपदा प्रभावित लोगों के साथ एकजुटता प्रकट की है।

भारत के दक्षिणी और पश्चिमी हिस्से में मानसून की तेज वर्षा से उत्पन्न बाढ़ से सैकड़ों लोगों की जान जा चुकी है। अकेले केरल से 91 लोगों की मौत की खबर है।

इसके अलावा कर्नाटक, महाराष्ट्र और गुजरात राज्य में भी तेज बारिश से जुड़ी आपदाओं ने कहर बरपाया है। राहत व बचाव कर्मी बाढ़ में फंसे लाखों लोगों को सुरक्षित निकालने में जुटे हुए हैं। उनके घरों तक राहत व खाद्य सामग्री पहुंचाने का काम भी किया जा रहा है।

गौरतलब है कि केरल में बरसात से हालात बेहद खराब हैं। अब तक यहां 90 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है और 2.27 लाख लोग राहत शिविरों में पहुंचाए जा चुके हैं। बरसात से महाराष्ट्र के 10 जिले प्रभावित है। यहां के पालघर, रत्नागिरी, रायगढ़ कोल्हापुर, सांगली, सतारा, ठाणो, पुणो, नासिक और सिंधूदुर्ग जिले पिछले एक सप्ताह से जारी भारी बारिश के चलते बाढ़ से जूझ रहे हैं। यहां मरने वालों की संख्या 30 से अधिक पहुंच गई। चार लाख से ज्यादा लोगों को सुरक्षित पहुंचाया गया है।   

 

Posted By: Dhyanendra Singh