संयुक्त राष्ट्र, एपी। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुतेरस ने चेतावनी दी है कि दुनिया असहिष्णुता, हिंसा, अतिवाद और आतंकवाद के कारण एक 'अभूतपूर्व खतरे' का सामना कर रही है। इस खतरे से हर देश प्रभावित है और यह संघर्षो को बढ़ा रहा है तथा सभी क्षेत्रों को अस्थिर कर रहा है।

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने सुरक्षा परिषद की मंत्री स्तरीय बैठक में बुधवार को कहा कि उनका नया मोर्चा साइबर आतंकवाद है जिसमें सोशल मीडिया और डार्क वेब का इस्तेमाल हमलों में तालमेल करने, प्रचार करने और नए लोगों को अपने साथ जोड़ने के लिए किया जाता है।

सुरक्षा उपायों से खतरे का जवाब

गुतेरस ने जोर देकर कहा कि आतंकवाद के भयावह खतरे का जवाब हमें सुरक्षा उपायों, रोकथाम के प्रयासों के साथ देना चाहिए जिसमें मूल कारण की पहचान की जाए और उसका समाधान निकाला जाए और इसके साथ ही मानवाधिकारों के सम्मान का भी खयाल रखा जाए।

मानवाधिकारों के सम्मान के महत्व पर जोर

इस महीने परिषद की अध्यक्षता रूस कर रहा है। उसने यह बैठक आतंकवाद का सामना करने के लिए संयुक्त राष्ट्र तथा तीन संगठनों शंघाई सहयोग संगठन, सामूहिक सुरक्षा संधि संगठन तथा स्वतंत्र राष्ट्रों का राष्ट्रमंडल (या रूसी राष्ट्रमंडल) के बीच सहयोग को लेकर की। अमेरिका और उसके पश्चिमी सहयोगियों ने भी संरा महासचिव की बात दोहराई और आतंक विरोधी अभियानों में मानवाधिकारों के सम्मान के महत्व पर जोर दिया।

Posted By: Manish Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप