कीव, रायटर। डोनबास में शुक्रवार को यूक्रेन की सेना ने सिवरस्की डोनेट्स नदी पर बना पैंटून ब्रिज उड़ाकर आगे बढ़ती रूसी सेना को रोक दिया। यूक्रेनी सेना की इस कार्रवाई में दर्जनों रूसी सैनिकों के मारे जाने और बड़ी संख्या में भारी हथियार बर्बाद होने की खबर है। इतना ही नहीं, यूक्रेनी सेना ने काला सागर में रसद लेकर आ रहे रूसी जहाज पर भी हमला किया जिससे उसमें आग लग गई और वह बर्बाद हो गया। इस बीच रूसी विमानों के खार्कीव और मारीपोल में बमबारी किए जाने की सूचना है।

इस बीच पेंटागन ने कहा है कि अमेरिकी रक्षा मंत्री लायड आस्टिन ने शुक्रवार को रूसी रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगु से यूक्रेन में युद्धविराम लागू करने के लिए तत्काल कदम उठाने का आग्रह किया। पेंटागन की ओर से जारी बयान के मुताबिक सचिव आस्टिन ने यूक्रेन में तत्काल युद्धविराम का आग्रह किया और संचार लाइनों को बनाए रखने के महत्व पर जोर दिया। हालांकि पेंटागन की ओर से वार्ता के संबंध में विस्तृत विवरण नहीं साझा किया गया है।

डोनबास (डोनेस्क और लुहांस्क) क्षेत्र में रूसी सेना का काफिला जब नदी पारकर बड़े यूक्रेनी इलाके पर कब्जा करने के लिए बढ़ रहा था, तभी अस्थायी पुल उड़ा दिया गया। इससे रूसी सेना को भारी नुकसान हुआ है। वहां पर रूसी सेना के कई टैंक और बख्तरबंद वाहन बर्बाद हो गए हैं। देश के दूसरे बड़े शहर खार्कीव पर यूक्रेनी सेना का कब्जा बना हुआ है और वह नजदीकी इलाकों से रूसी सेना को पीछे धकेल रही है।

खार्कीव से 40 किलोमीटर पूर्व में बह रही सिवरस्की डोनेट्स नदी तक यूक्रेनी सेना का नियंत्रण बना हुआ है। हालांकि रूसी लड़ाकू विमान खार्कीव शहर पर बमबारी कर रहे हैं। खार्कीव के नजदीक डरगाची के सांस्कृतिक भवन में मिसाइल हमले से आग लग गई। इस आग को काबू करने में अग्निशमन विभाग के कर्मचारी जुटे हुए हैं।

बताते हैं कि इस भवन से स्थानीय लोगों को राहत सामग्री का वितरण होता था। क्षेत्र के मेयर व्याचेस्लाव जाडोरेंको ने इसे आतंकी कार्रवाई कहा है। रूसी सेना इसी क्षेत्र के कब्जे वाले सीवेरोडोनेस्क और इजियम में अपनी स्थिति मजबूत करने में जुटी है। वह स्लोविंस्क और क्रैमेटो‌र्स्क पर कब्जा कर यूक्रेन के औद्योगिक डोनबास क्षेत्र पर पूरी तरह से नियंत्रण बनाना चाहती है।

मारीपोल की अजोवस्टाल स्टील फैक्ट्री में फंसे यूक्रेनी सैनिकों और लड़ाकों की पत्नियों और रिश्तेदारों ने शुक्रवार को राजधानी कीव में जुलूस निकालकर उन्हें सुरक्षित निकाले जाने के लिए नारे लगाए। इस बीच फैक्ट्री पर रूसी सेना की गोलाबारी और बमबारी जारी है। फैक्ट्री में मौजूद करीब दो हजार यूक्रेनी सैनिकों और लड़ाकों का प्रतिरोध भी जारी है। उन्होंने मुकाबले का फुटेज भी इंटरनेट मीडिया पर जारी किया है।

यूक्रेन की उप प्रधानमंत्री इरयाना वेरेशचुक ने कहा है कि फैक्ट्री में मौजूद गंभीर रूप से घायल लोगों की निकासी के लिए बात चल रही है। काला सागर में स्नेक द्वीप के नजदीक यूक्रेनी सेना ने रूसी नौसेना के रसद लाने वाले जहाज पर मिसाइल हमला किया है। यह रूसी काफिले में शामिल हुए नया जहाज था। यूक्रेन के हमले से जहाज में आग लग गई है, उसे काबू करने के प्रयास चल रहे हैं। 

Edited By: Krishna Bihari Singh