वाशिंगटन, एजेंसियां। Twitter officially bans all political ads ट्विटर ने कहा है कि राजनीतिक विज्ञापनों पर लगाए गए उसके प्रतिबंध से उन संदेशों को छूट मिलेगी, जिनमें सामाजिक या पर्यावरणीय मामलों को उठाया गया होगा। यानी सामाजिक संदेश वाले सियासी विज्ञापनों पर कोई रोक नहीं होगी। ट्विटर ने 22 नवंबर से सभी ‘पेड’ राजनीतिक विज्ञापनों पर प्रतिबंध लगाए जाने के अपने कदम के बारे में जानकारी दी और सामाजिक कार्यकर्ताओं द्वारा जाहिर की गई चिंताओं को दूर किया।

माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर ने अपनी नई नीति में कहा कि शिक्षित करने, जागरूकता फैलाने, लोगों से असैन्य मुहिमों में भाग लेने की अपील करने वाले, आर्थिक विकास, पर्यावरण सुरक्षा या सामाजिक समानता से जुड़े विज्ञापनों को उसके प्लेटफार्म पर अनुमति दी जाएगी। बता दें कि ट्विटर ने राजनीतिक विज्ञापनों पर प्रतिबंध की घोषणा 30 अक्टूबर को की थी, जिसका मकसद नेताओं द्वारा फैलाए जा रहे दुष्प्रचार को रोकना था।

ट्विटर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जैक डोरसे (Twitter CEO Jack Dorsey) ने उस समय कहा था कि ‘मशीन लनिर्ंग’ तकनीक से अविश्वसनीय सूचनाओं को रोक पाने में समस्या आने की वजह से यह निर्णय लिया गया। ट्विटर की नई नीति के तहत जिन सामाजिक और पर्यावरणीय विज्ञापनों को छूट दी गई है, उन पर भी इस बात का प्रतिबंध होगा कि वे किसी विशेष इलाके को लक्ष्य करके विज्ञापन नहीं दे सकेंगे।

राजनीतिक विज्ञापन पर प्रतिबंध लगाए जाने के निर्णय पर मिश्रित प्रतिक्रियाएं प्राप्त हुई हैं। कुछ लोगों का मानना है कि ट्विटर के इस कदम से फेसबुक पर भी इस तरह के विज्ञापनों पर प्रतिबंध लगाए जाने का दवाब पड़ेगा, वहीं कुछ अन्य का कहना है कि इसे लागू कर पाना अत्यंत कठिन होगा। राष्ट्रपति ट्रंप के 2020 के चुनाव अभियान के मैनेजर ब्रैड पास्कल ने इसे वाम विचारों वालें लोगों की ट्रंप और कंजरवेटिव को चुप कराने का एक और प्रयास बताया है।

Posted By: Krishna Bihari Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप