वाशिंगटन, एजेंसी । तुर्की के इस ऐलान के बाद कि वह उत्तरी सीरिया में पांच दिनों तक कोई सैन्‍य ऑपरेशन नहीं करेगा, अमेरिका ने राहत भरी सांस ली है। शुक्रवार को अमेरिकी उप राष्‍ट्रपति माइक पेंस ने ऐलान किया। इस घोषणा के बाद अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप का चेहरा खिल गया। माइक पेंस ने कहा कि उत्तर सीरिया में युद्ध विराम के लिए तुर्की के राष्‍ट्रपति के साथ समझौता हुआ है। कुर्दिश लड़ाकों के वापस जाने तक तुर्की 120 घंटे तक उत्तर सीरिया में अपने सभी सैन्‍य अभियानों को रोक देगा।

तुर्की के इस फैसले से खुश हुए ट्रंप

इस समझौते के बाद अमेरिकी राष्‍ट्रपति ट्रंप ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्‍होंने कहा कि यह सौदा तीन दिन पहले तक नहीं हो सकता था। इसे पूरा करने के लिए कुछ सख्‍त प्रेम का इजहार करना पड़ा। यह हम सबके लिए सुखद है। इस फैसले से हम सभी को गर्व है। ट्रंप ने कहा उनके लिए यह महान दिन है। अमेरिका के लिए यह गर्व की बात है। इस समझौते के लिए कई साल से कोशिश चल रही थी। तुर्की के इस फैसले से करोड़ों जिंदगियां बच जाएंगी। सभी को बधाई।

ट्रंप ने तुर्की के समकक्ष को लिखा था सख्‍त पत्र

बता दें कि बुधवार को राष्ट्रपति ट्रंप ने तुर्की के समकक्ष रेसेप तैयब एर्दोगन को पत्र लिखकर चेतावनी दी थी। उन्‍होंने पत्र में लिखा 'मूर्ख मत बनो.. होश में आ जाओ.. वरना सजा भुगतने को तैयार रहो।' ट्रंप ने तुर्की के राष्‍ट्रपति को उस वक्‍त खत लिखा है जब रूस के राष्‍ट्रपति  व्लादिमीर पुतिन ने फोन करके एर्दोगन को सीरिया संघर्ष सुलझाने की नसीहत दी है। इस बाबत उन्‍होंने मॉस्‍को आने का न्‍योता भी दिया। ट्रंप के इस कड़े पत्र के बाद तुर्की की यह पहल सामने आई है।

 

Posted By: Ramesh Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप