वाशिंगटन, प्रेट्र। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भारत और चीन को लेकर कुछ ऐसा कह दिया कि मोदी चौंक गए। साथ ही ट्रंप का भूगोल को लेकर अल्पज्ञान भी उजागर हो गया। ट्रंप ने मोदी से कहा था कि चीन की सीमा भारत से लगी हुई नहीं है। ऐसा दावा पुलित्जर पुरस्कार जीतने वाले दो अमेरिकी पत्रकारों की नई किताब में किया गया है।

वाशिंगटन पोस्ट में बुधवार को प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार वाशिंगटन पोस्ट के रिपोर्टर फिलिप रुकर और कैरोल डी.लीओनिंग की 417 पेज की किताब 'ए वेरी स्टेबल जीनियस' में ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के शुरुआती तीन सालों का लेखा-जोखा है। यह किताब ट्रंप की ऐसी ही बहुत सी गफलतों के किस्सों से भरी पड़ी है। सफल उद्योगपति से राजनेता बने ट्रंप ने 2016 में अमेरिका के राष्ट्रपति का चुनाव जीता और 20 जनवरी, 2017 को पदभार संभाला था।

किताब में दावा किया गया है कि मोदी से मुलाकात के दौरान ट्रंप ने कहा, 'चीन की सीमा भारत से लगी हुई नहीं है'(इट्स नॉट लाइक यू हैव गॉट चाइना ऑन यौर बार्डर)। हालांकि वाशिंगटन पोस्ट ने अपनी रिपोर्ट में यह नहीं बताया कि राष्ट्रपति ट्रंप ने यह गफलत कौन से साल में की।

भारत-चीन भूगोल पर ट्रंप के इस बयान का दावा करते हुए वाशिंगटन पोस्ट के दोनों रिपोर्टर ने बताया कि इतना सुनते ही मोदी की आंखें आश्चर्य से फैल गईं। फिर पीएम के चेहरे के भाव स्तब्ध होने से लेकर चिंता में बदल गए। बैठक के बाद राष्ट्राध्यक्ष के सहायक ने लेखकों को बताया कि इतना सुनने के बाद ही मोदी उस बैठक से ही चले गए।

ध्यान रहे कि मोदी वर्ष 2019 में ही ट्रंप से चार बार मिल चुके हैं। इन दोनों रिपोर्टरों को ट्रंप और रूस की रिपोर्टिग करने पर 2018 का पुलित्जर पुरस्कार मिल चुका है। उल्लेखनीय है कि भारत और चीन के बीच 3,488 किलोमीटर लंबी वास्तविक रेखा (एलएसी) है।

Posted By: Sanjeev Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस