वाशिंगटन, प्रेट्र। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आयात शुल्क के मामले में एक सप्ताह में दूसरी बार भारत को खरी-खोटी सुनाई है। उन्होंने दोहराया है कि एक तरफ अमेरिका है जो भारत के कई सामानों पर कुछ भी शुल्क नहीं लगाता है। दूसरी तरफ भारत है जो अमेरिका के कई सामानों पर 100 फीसद से भी ज्यादा टैक्स लगाता है।
किसी भी देश के साथ अमेरिका के इस तरह के कारोबार को 'मूर्खतापूर्ण कारोबार' करार देते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि वे स्थिति को संभालने की कोशिशों में लगे हुए हैं। ट्रंप ने कहा कि भारत एक बेहतरीन देश है और वहां के प्रधानमंत्री एक बेहतरीन दोस्त हैं। इसके बावजूद हमारे सामानों पर भारत 100 फीसद से ज्यादा शुल्क लगा रहा है।
दिलचस्प यह है कि कारोबार को लेकर एक तरफ अमेरिका और चीन के रिश्ते सुधर रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ अमेरिका और भारत के बीच तल्खी बढ़ती जा रही है। पिछले कुछ समय के दौरान ट्रंप ने आयात शुल्क के मामले में भारत पर लगातार निशाना साधा है। ट्रंप ने खुद पिछले सप्ताह कहा था कि चीन के साथ व्यापार को लेकर उनके रिश्ते बेहतर हो रहे हैं।
इससे एक दिन पहले ट्रंप ने भारत की आलोचना करते हुए उसे दुनिया का सबसे अधिक कर वाला देश बताया था। गौरतलब है कि पिछले हफ्ते एक कार्यक्रम में ट्रंप ने एक बार फिर हार्ले-डेविडसन बाइक का उदाहरण देते हुए कहा था कि भारत इस बाइक समेत कई अन्य अमेरिकी उत्पादों पर 100 फीसद शुल्क लगा रहा है।

भारत के साथ बड़ा कारोबार
अमेरिका भारत का सबसे बड़ा ग्लोबल कारोबारी सहयोगी है। वित्त वर्ष 2016-17 में भारत से अमेरिका को 42.21 अरब डॉलर का निर्यात हुआ था, जो वित्त वर्ष 2017-18 में बढ़कर 47.87 अरब डॉलर हो गया। इसकी वजह से व्यापार घाटे को लेकर अमेरिका की चिंता बढ़ी है। 

Posted By: Krishna Bihari Singh