वॉशिंगटन (रॉयटर्स)। रूस पर अतिरिक्त प्रतिबंध लगाने के फैसले पर अब अमेरिका बैकफुट पर आ गया है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने रूस पर लगाए जाने वाले अतिरिक्त प्रतिबंध के फैसले पर रोक लगा दी है। ट्रंप ने सोमवार को संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत निक्‍की हेली द्वारा रूस पर अतिरिक्त आर्थिक प्रतिबंध लगाने की प्रारंभिक योजना पर ब्रेक लगा दिया है। जिस पर रूस ने आपत्ति भी दर्ज कराई थी।

सीरिया में कथित तौर पर रासायनिक हथियारों के हमले के सिलसिले में सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल-असद सरकार के समर्थन के लिए रूस को फिर से दंडित करने की तैयारी के कारण व्हाइट हाउस में हड़कंप मच गया। हेली ने सीबीएस न्यूज के 'फेस द नेशन' पर कहा था कि कोष विभाग नए प्रतिबंधों की घोषणा करेगा और रासायनिक हथियारों के इस्‍तेमाल को लेकर अमेरिका की ओर से सख्‍त संदेश भेजा गया है। आप देखोगे कि रूसी प्रतिबंधों में कमी आएगी। सेक्रेटरी एमनुचिन सोमवार को इसकी घोषणा करेंगे।

लेकिन ट्रंप ने रविवार को इस फैसले पर ब्रेक लगा दिया और उन्होंने कहा कि वे प्रतिबंधों को लेकर परेशान हैं क्योंकि वे अभी तक ऐसा करने के लिए सहज नहीं महसूस कर रहे हैं। इस योजना से जुड़े लोगों ने इसकी जानकारी दी है। प्रशासन के अधिकारियों ने कहा कि आर्थिक प्रतिबंधों पर रूस के खिलाफ अन्य उपायों के साथ गंभीर विचार किया गया, लेकिन ट्रंप ने फैसले पर रोक लगा दी।

रूस ने जवाबी कार्रवाई की दी थी धमकी 

रूस ने कहा था कि यदि अमेरिका नए प्रतिबंध लगाता है तो वह जवाबी कार्रवाई करेगा। संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत निक्की हेली ने कहा कि प्रतिबंधों के जरिये उन कंपनियों को निशाना बनाए जाएगा जिन्होंने सीरिया को रसायनिक हथियार उपलब्ध कराए थे। अमेरिकी राजदूत ने कहा है कि दुनिया जल्द ही रूस पर नए प्रतिबंध देखेगी। क्रेमलिन ने अमेरिकी राजदूत के इसी बयान का जवाब दिया है।

Posted By: Nancy Bajpai