वाशिंगटन, रायटर। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के दामाद और ह्वाइट हाउस के वरिष्ठ सलाहकार जेरेड कुश्नर मेरिट आधारित एक आव्रजन प्रस्ताव पर काम कर रहे हैं। वह उच्च कुशल पेशेवरों के लिए वीजा कोटा बढ़ाने का प्रस्ताव रख सकते हैं। ऐसा होने पर भारतीय पेशेवरों को फायदा हो सकता है। इस श्रेणी का वीजा भारतीय पेशेवरों में खासा लोकप्रिय है।

इस प्रस्ताव से जुड़े सूत्रों ने बुधवार को कहा कि कुश्नर अगले हफ्ते राष्ट्रपति ट्रंप के सामने प्रस्ताव पेश कर सकते हैं। यह हालांकि ट्रंप के फैसले पर है कि वह इस प्रस्ताव को स्वीकार करते हैं या बदलाव के लिए लौटा देंगे।

उन्होंने कहा कि प्रस्ताव में उन लोगों के मामलों से निपटने के लिए किसी नए तरीके का सुझाव नहीं दिया जाएगा जो बचपन में अवैध तरीके से अमेरिका में दाखिल हुए थे। ऐसे लोगों को पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के कार्यकाल में बने एक प्रोग्राम के तहत संरक्षण मिला हुआ है।

न्यूयॉर्क में टाइम पत्रिका के एक कार्यक्रम में मंगलवार को कुश्नर ने कहा था, 'मैं ह्वाइट हाउस के आर्थिक सलाहकार केविन हैसेट और नीति मामलों के सलाहकार स्टीफन मिलर के साथ मिलकर प्रस्ताव पर काम कर रहा हूं।'

सख्त आव्रजन नीति चाहते हैं ट्रंप
डोनाल्ड ट्रंप 2016 में हुए राष्ट्रपति चुनाव के दौरान और राष्ट्रपति बनने के बाद कई बार सख्त आव्रजन नीति की वकालत कर चुके हैं। वह मेक्सिको से लगी अमेरिकी सीमा पर दीवार खड़ी करने की अपनी योजना को भी आगे बढ़ा रहे हैं। उनकी दलील है कि सीमा पर दीवार बनने से शरणार्थी अवैध रूप से अमेरिका में दाखिल नहीं हो सकेंगे।

Posted By: Prateek Kumar