ह्यूस्टन, प्रेट्र। एक आइटी पेशेवर और एक डॉक्टर समेत ह्यूस्टन के अस्पताल में भर्ती कोरोना संक्रमित तीन भारतीय अमेरिकियों की हालत गंभीर है। इनके परिवारों ने तत्काल उन लोगों से रक्तदान करने की अपील की है, जो कोविड-19 से संक्रमण मुक्त हुए हैं। इनमें से एक हाल ही में अपनी व्यावसायिक यात्रा के दौरान इस वायरस के संपर्क में आया है। उन्हें ब्लड ग्रुप ए या एबी चाहिए। उनकी पत्नी और तीन बच्चे भी कोरोना संक्रमित हैं और उन्हें घर में ही क्वारंटाइन कर दिया गया है।

इनमें से एक की पत्नी खुद एक चिकित्सक हैं और उसने तत्काल रक्त समूह ए या एबी के लिए अपील की है। डॉक्टर दंपती टेक्सास के ब्यूमोंट जाने से पहले लंबे समय तक ह्यूस्टन के निवासी थे।

अस्पताल इन रोगियों के लिए प्लाज्मा मैच खोजने की कर रहा कोशिश

तीसरे कोविड-19 के मरीज ने गुमनाम रहना पसंद किया है और मेमोरियल हरमन अस्पताल में प्लाज्मा ट्रांसफ्यूजन की प्रतीक्षा कर रहा है। सेंट ल्युक्स और मेमोरियल हरमन के डॉक्टरों के मुताबिक ऐसी परिस्थितियों में ऐसे व्यक्ति का खून बेहतर काम करेगा, जो पिछले दो हफ्तों में कोविड-19 से उबर चुका है और अब स्वस्थ है। अस्पताल इन रोगियों के लिए प्लाज्मा मैच खोजने की पूरी कोशिश कर रहा है। परिवार के मित्र और शुभचिंतक ह्यूस्टन क्षेत्र में खून के नमूने की तलाश कर रहे हैं, जो उनके जीवन को बचा सके। सेवा इंटरनेशनल, एक गैरलाभकारी धर्मार्थ संस्था, इन प्रभावित परिवारों के साथ मिलकर काम कर रहा है और सभी संभावित दाताओं की जानकारी जुटा रहा है।

दो लाख से ज्यादा हैं अमेरिका में कोरोना के संक्रमित मरीज

अमेरिका में कोरोना से पांच हजार से ज्‍यादा लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 2,10,000 लोग संक्रमित हैं। ट्रंप ने कहा है कि हमारे डॉक्‍टरों, नर्सों, और स्वास्थ्य कर्मियों को महत्वपूर्ण चिकित्सा आपूर्ति करने, खरीदने, वितरित करने के लिए हम आपूर्ति संस्थाओं की मदद ले रहे हैं। 11 कंपनियों की मदद से हजारों वेंटिलेटर बनाए जा रहे हैं। इस बीच रूसी मालवाहक विमान वेंटिलेटर, मास्क और अन्य सुरक्षा उपकरणों समेत 60 टन चिकित्सा आपूर्ति को लेकर अमेरिका पहुंचा है।

Posted By: Dhyanendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस