वाशिंगटन, एएनआइ। टेक्सास सिनेगाग बंधक मामले से एक बार फिर से पाकिस्तान का आतंक समर्थक और प्रायोजक चेहरा सामने आ गया है। पाकिस्तानी अपहरणकर्ता मलिक फैजल अकरम (44) ने अमेरिका में चार लोगों को बंधक बनाकर पाकिस्तानी वैज्ञानिक और आतंकी आफिया सिद्दीकी को रिहा करने की मांग की थी। आफिया सिद्दीकी पाकिस्तानी वैज्ञानिक है जो अमेरिकी जेल में सजा काट रही है।

आफिया सिद्दीकी को आतंकी हमले की साजिश रचने के लिए किया गया था गिरफ्तार

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने बंधक बनाए जाने की इस घटना को आतंकी हमला बताया है। हालांकि 12 घंटे की कवायद के बाद मलिक फैजल अकरम को मार गिराया गया। आफिया सिद्दीकी को अमेरिकी शहरों में हमले की साजिश रचने के लिए गिरफ्तार किया गया था। उसे 2008 में पूर्वी अफगानिस्तान के गजनी प्रांत से गिरफ्तार किया गया था। ज्यादातर अमेरिकी सिद्दीकी के मामले से वाकिफ नहीं हैं। उसे ही छुड़वाने के लिए अमेरिका में लोगों को बंधक बनाया गया था।

इमरान खान ने उठाया था आफिया सिद्दीकी की रिहाई का मुद्दा

अलजजीरा की रिपोर्ट के मुताबिक इमरान खान ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में भी आफिया सिद्दीकी की रिहाई का मुद्दा उठाया था। इसके अलावा, भी वह कई मौकों पर उसका नाम लेते रहे हैं। सेंटर आफ पालिटिकल एंड फारेन मामलों (सीपीएफए) के अध्यक्ष फाबियन बुसार्ट ने टाइम्स आफ इजरायल में लिखा कि आमतौर पर किसी के निजी भ्रष्ट आचरण के लिए सरकारी संस्था को जिम्मेदार नहीं ठहराना चाहिए। लेकिन पाकिस्तान के मामले में उसको उसकी आतंकी गतिविधियों के लिए जिम्मेदार ठहराए जाने की जरूरत है।

बता दें कि यह कोई पहली बार नहीं है, जो पाकिस्तान को एक आतंकी चेहरे के रूप में देखा जा रहा है। इसके पहले की भी कई ऐसी वैश्विक घटनाएं हैं, जिसमें पाकिस्तान के बड़े आंतकी कई बड़ी घटनाओं में शामिल रहे हैं। 

यह भी पढ़ें : कोरोना टेस्टिंग में कमी को देखते हुए केंद्र ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को इसे बढ़ाने की दी सलाह

Edited By: Dhyanendra Singh Chauhan