वाशिंगटन, प्रेट्र। कंप्यूटर की दुनिया का भविष्य माने जाने वाले सुपरफास्ट ‘क्वांटम कंप्यूटर’ सामान्य कंप्यूटरों के मुकाबले कई गुना तेजी से समस्याओं को सुलझा सकते हैं, इसलिए इसका सभी को इंतजार है। लेकिन अभी तक ये कंप्यूटर तैयार नहीं हो पाए हैं। अब अमेरिकी वैज्ञानिकों ने एक ऐसी नई सामग्री खोजी है, जो क्वांटम कंप्यूटर बनाने में मदद कर सकती है। इन कंप्यूटरों के जरिये लोग जटिल गणनाओं और डाटा को अधिक सुरक्षित रूप से एनक्रिप्ट कर सकते हैं। साथ ही ये कंप्यूटर सिस्टम में वायरस के प्रसार का पूर्वानुमान भी लगा सकते हैं।

अमेरिका में जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के पोस्टडॉक्टरल फेलो यूफन ली ने कहा, ‘हमने पाया कि कुछ सुपरकंडक्टिंग मैटेरियल्स (ऐसी सामग्री बहुत तेजी से काम करती है) में विशेष गुण होते हैं, जो भविष्य की तकनीक के लिए एक मजबूत आधार स्तंभ बन सकते हैं।’

उन्होंने कहा कि वर्तमान में जो कंप्यूटर हमारे पास मौजूद हैं, वे सूचनाओं को संग्रहीत करने के लिए इलेक्ट्रिकल वोल्टेज के जरिये बिट्स का इस्तेमाल करते हैं। इसमें डाटा को शून्य या एक की फॉर्म में रखा जाता है। जबकि क्वांटम कंप्यूटर, क्वांटम यांत्रिकी के नियमों पर आधारित होते हैं। इसमें क्वांटम बिट्स या क्यूबिट्स के आधार पर डाटा का संग्रहण किया जाता है। क्यूबिट्स में जो इन्फॉर्मेशन होती है वह शन्यू और एक दोनों ही फॉर्म में हो सकती है, जिसे कंप्यूटेशन स्पीड काफी ज्यादा बढ़ जाती है।

जर्नल साइंस में प्रकाशित हुए अध्ययन में शोधकर्ताओं ने कहा, ‘समस्याओं को हल करते समय क्यूबिट्स की यही क्षमता क्वांटम कंप्यूटरों को मौजूदा कंप्यूटरों की तुलना में अधिक शक्तिशाली बनाती है और इसकी मदद से आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, क्रिप्टोग्राफी की समस्याओं को आसानी से निपटाया जा सकता है और मौसम का भी सटीक पूर्वानुमान लगाया जा सकता है।’ जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी में भौतिकी के प्रोफेसर चिया-लिंग चिएन ने कहा, ‘नई सामग्री में ऐसी क्षमता है कि वह क्वांटम कंप्यूटरों को विकसित करने में मदद कर सकती है। इनके तैयार होने के बाद कंप्यूटिंग से जुड़ी समस्याओं का समाधान जल्दी हो सकेगा।

Posted By: Sanjay Pokhriyal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप