बोस्टन, प्रेट्र। कोरोना वायरस के लक्षण प्रकट होने से पहले ही स्मार्ट वाच की मदद से जानकारी मिल सकती है। इससे शरीर में होने वाले परिवर्तनों का पता लगा सकते हैं। अमेरिका में स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन के शोधकर्ताओं ने इस बात का पता लगाया है।

शोधकर्ताओं ने करीब 5,300 लोगों के समूह से पहचाने गए COVID-19 से संक्रमित 32 व्यक्तियों के डेटा का विश्लेषण किया। उन्होंने पाया कि उनमें से 26 यानी 81 फीसद लोगों के हृदय की दर में परिवर्तन पाया गया।

नेचर बायोमेडिकल इंजीनियरिंग नामक पत्रिका में प्रकाशित अध्ययन में पाया गया कि 22 मामलों में कोरोना लक्षण के शुरू होने से पहले ही पता लग गया था।

स्मार्टवॉच और इसी तरह के उपकरणों के माध्यम से गतिविधि पर नज़र रखने और स्वास्थ्य निगरानी का उपयोग बड़े पैमाने पर, श्वसन संक्रमण के वास्तविक समय का पता लगाने के लिए किया जा सकता है। शोधकर्ताओं ने कहा कि संक्रामक बीमारी का जल्द पता लगने से शुरुआती उपचारों  के माध्यम से काफी हद तक बीमारी के प्रसार को कम किया जा सकता है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप