सैन फ्रांसिस्को, आइएएनएस। अक्सर ऑफिस या किसी यात्रा पर जाने के दौरान हम अपने स्मार्टफोन या आइपैड की चार्जिग केबल साथ में ले जाना भूल जाते हैं। ऐसे में जब फोन चार्ज करना हो तो हमें किसी से चार्जिंग केबल मांगनी पड़ती है। उसे इस्तेमाल करने से पहले हम केबल के सुरक्षित या असुरक्षित होने पर ध्यान हीं नहीं देते।

अब एक हैकर ने इन चार्जिग केबल की सुरक्षा पर सवाल खड़ा किया है। उसका कहना है कि चार्जिंग केबल के जरिये भी यूजर का डाटा चोरी किया जा सकता है। ऐसे में बिना सोचे-समझे किसी की भी चार्जिग केबल इस्तेमाल करना घातक हो सकता है।

एक रिपोर्ट में एमजी नामक हैकर ने कहा, 'कई लोग पेन ड्राइव और मेमोरी कार्ड के इस्तेमाल के प्रति तो सचेत रहते हैं लेकिन यूएसबी केबल को खतरा नहीं मानते।' एमजी ने ही एपल के यूएसबी पोर्ट में लगने वाली चार्जिग केबल का नमूना तैयार किया है। ओ.एमजी नामक यह नकली केबल बाहर से किसी अन्य चार्जिग केबल की तरह ही दिखती है। लेकिन इस केबल के जरिये हैकर किसी भी डिवाइस में वायरस आदि ट्रांसमिट कर सकते हैं। इसके लिए उस डिवाइस का वाई-फाई नेटवर्क क्षेत्र में होना जरूरी है।

हैकर चाहे तो उस डिवाइस में नकली केबल के इस्तेमाल किए जाने की जानकारी भी मिटा सकता है। इस केबल के जरिये कंप्यूटर या स्मार्टफोन की स्क्रीन को लॉक कर उसका पासवर्ड भी पता किया जा सकता है। एमजी ने एपल की केबल में ही कुछ बदलाव कर इस नकली केबल को तैयार किया है। उसका कहना है कि इस केबल को अन्य यूएसबी पोर्टल के लिए भी बनाया जा सकता है। हालांकि वह इस केबल को सिक्योरिटी टूल की तरह इस्तेमाल में लाना चाहता है।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sanjeev Tiwari