वाशिंगटन, प्रेट्र। अमेरिका में रहने वाले सिखों ने पाकिस्तान स्थित करतारपुर साहिब गलियारे को खोले जाने के मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मदद मांगी है। सिखों के लिए करतारपुर साहिब गुरुद्वारे का विशेष महत्व है क्योंकि गुरु नानक देव ने यहीं 18 साल बिताए थे।

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के नरोवाल जिले का करतारपुर क्षेत्र भारत-पाकिस्तान सीमा के बेहद करीब है। सीमा से गुरुद्वारे की दूरी महज तीन किलोमीटर है। यूनाइटेड सिख मिशन के झंडे तले अमेरिका के विभिन्न इलाकों से आए सिखों और हिंदुओं ने सोमवार को यहां भारतीय दूतावास को पीएम मोदी के नाम एक ज्ञापन सौंपा।

इसमें मांग की गई है कि भारत के तीर्थयात्रियों को भारतीय पहचान पत्र के साथ बिना वीजा व अन्य कागजी कार्यवाही के करतारपुर साहिब गुरुद्वारा जाने की अनुमति मिले। दर्शन के बाद उसी दिन भारत सरकार तीर्थयात्रियों के वापस लौटने की व्यवस्था करे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस