वाशिंगटन [न्यूयॉर्क टाइम्स]। चीन और इटली के बाद अब अमेरिका कोरोना वायरस महामारी का नया केंद्र बन गया है। इस देश में संक्रमित लोगों की संख्या एक लाख के पार पहुंच गई है। इस आंकड़े को छूने वाला अमेरिका दुनिया का पहला देश है। कोरोना से 1700 से ज्यादा मौत भी चुकी है। अमेरिका में कोरोना के बहुत तेजी से बढ़ते मामलों के चलते चिकित्सा उपकरणों की भारी कमी पड़ने की भी खबर है। इसे लेकर हो रही तीखी आलोचना के बीच राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने यह एलान किया कि संघीय सरकार हजारों वेंटिलेटर खरीदेगी। उन्होंने युद्धकाल के एक कानून को प्रभावी कर दिग्गज ऑटो कंपनी जनरल मोटर्स को वेंटिलेटर बनाने के लिए विवश किया है।

ट्रंप प्रशासन की हो रही आलोचना

अमेरिका में महामारी से निपटने में ट्रंप प्रशासन के ढुलमुल रवैये की निंदा हो रही है। सबसे ज्यादा आलोचना मास्क और वेंटिलेटर जैसे बुनियादी चिकित्सा उपकरणों के पर्याप्त भंडार की कमी को लेकर हो रही है। अमेरिका में कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित न्यूयॉर्क शहर के मेयर बिल डी ब्लासियो ने कहा, 'जब राष्ट्रपति यह कहते हैं कि न्यूयॉर्क को 30 हजार वेंटिलेटर की जरूरत नहीं है तो हमें उनका सम्मान करना चाहिए, क्योंकि वह बढ़ते संकट की सच्चाई की ओर नहीं देख रहे।'

आवश्यक वस्तुओं की कमी से गहराया संकट

एक सर्वे के अनुसार, कोरोना वायरस से निपटने के लिए अमेरिका के करीब 200 छोटे और बड़े शहरों के अधिकारियों ने मास्क, वेंटिलेटर और दूसरे आपात उपकरणों की जरूरत बताई है। यूएस कांफ्रेंस ऑफ मेयर्स के मुख्य कार्यकारी टॉम कोचरन ने एक पत्र में कहा, 'यह स्पष्ट है कि देशभर के शहरों में फेस मास्क, टेस्ट किट्स, निजी चिकित्सा उपकरण, वेंटिलेटर और दूसरे आवश्यक वस्तुओं की कमी का संकट खड़ा हो गया है।' इसके जवाब में ट्रंप ने कहा, 'हमने आधा काम कर दिया है। मेयर्स और गवर्नर्स को इसकी सराहना करनी चाहिए।' इसके साथ ही उन्होंने अपने आलोचकों पर सियासी फायदा लेने का आरोप भी लगाया।

192 शहरों ने की शिकायत

सर्वे के अनुसार, 192 शहरों ने यूएस कांफ्रेंस ऑफ मेयर्स को बताया कि पुलिस अधिकारियों, दमकलकर्मियों या आपात कर्मचारियों के लिए पर्याप्त मास्क की आपूर्ति नहीं हो रही। इन शहरों ने टेस्ट किट्स और वेंटिलेटर की कमी की भी शिकायत की है। कांफ्रेंस ने कहा कि शहरों को 2.85 करोड़ फेस मास्क, 79 लाख टेस्ट किट्स और एक लाख 39 हजार वेंटिलेटर की जरूरत है।

ट्रंप की सलाह, हाथ धोएं और अमेरिका पर गर्व करें

समाचार एजेंसी पीटीआइ की रिपोर्ट के मुताबिक, राष्ट्रपति ट्रंप ने बच्चों को अच्छे से व्यवहार करने, हाथ धोते रहने और अमेरिका पर गर्व करने की सलाह दी है। ट्रंप ने कहा कि बहुत साल पहले हम पर हमला हुआ था जिसमें हमने जीत हासिल की थी। हम इस बार भी जीतेंगे। उम्‍मीद है कि इसमें ज्यादा समय नहीं लगेगा। हम पर उसी तरह का हमला हुआ है जैसे 1917 में हुआ था। वहीं अधिकारियों का मानना है कि तेजी से फैल रही यह बीमारी महीनों तक जनजवीन सामान्‍य नहीं होने देगी।  

Posted By: Krishna Bihari Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस