कीव, रायटर। पूर्वी यूक्रेन के डोनेस्क और लुहांस्क में पिछले कई हफ्तों से भीषण लड़ाई जारी है। रूसी सीमा के नजदीक के इस इलाके के एक हिस्से पर रूस समर्थित विद्रोहियों का 2014 से कब्जा है। विद्रोहियों के साथ मिलकर रूसी सेना ने दोनों प्रांतों में भारी तबाही मचाई है। लुहांस्क के करीब 90 प्रतिशत इलाके पर रूसी सेना का कब्जा हो चुका है। रूसी सेना अब यहां पर अंतिम वार कर रही है।

मारीपोल पर रूस का कब्‍जा

यही नहीं यूक्रेन युद्ध में सबसे ज्यादा चर्चा में रहे मारीपोल पर आखिरकार रूसी सेना का पूरी तरह से कब्जा हो गया। शुक्रवार शाम 531 यूक्रेनी सैनिकों और लड़ाकों के आत्मसमर्पण के साथ ही करीब 12 वर्ग किलोमीटर में फैली अजोवस्टाल स्टील फैक्ट्री रूसी सेना के कब्जे में आ गई। हाल के दिनों में यूक्रेन के कुल 2,439 सैनिकों और लड़ाकों ने हथियार डाले हैं, इनमें कई सौ घायल भी हैं। ये सब अब युद्धबंदी के रूप में रूसी सेना की हिरासत में हैं।

जेलेंस्की बोले- सभी हिस्‍से वापस लेंगे

रूस के रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि 2,439 लोगों के आत्मसमर्पण के बाद मारीपोल में खूनी टकराव खत्म हो गया है। अब वहां पर स्थिति को सामान्य बनाने के प्रयास किए जाएंगे। इससे पहले यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने स्टील फैक्ट्री में मौजूद सैनिकों से बाहर जाने और जान बचाने के लिए कहा था। जेलेंस्की ने कहा, रूस का सभी भूभागों पर कब्जा अस्थायी है। वह चाहे डोनबास का इलाका हो या क्रीमिया का। सभी इलाके यूक्रेन के पास वापस आएंगे।

अजोव सागर पर रूस का अधिकार

डोनबास से क्रीमिया को जमीनी रास्ते से जोड़ने वाले मारीपोल का रणनीतिक रूप से खास महत्व है। मारीपोल के बंदरगाह पर कब्जे से अजोव सागर पर रूस का अधिकार हो गया है। डोनबास और क्रीमिया पर रूस का 2014 से कब्जा है। मारीपोल हाथ आने से बहुत बड़ा इलाका रूस के कब्जे में आ गया है। इस इलाके में बंदरगाह, औद्योगिक क्षेत्र और बड़े खनिज भंडार हैं। इसलिए आने वाले दिनों में यह इलाका रूस के लिए खासा महत्वपूर्ण साबित होने वाला है।

पश्चिमी देशों के हथियारों का जखीरा किया बर्बाद

रूसी रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि पश्चिमी देशों से यूक्रेन को मिला हथियारों का बड़ा जखीरा शनिवार को कैलिबर क्रूज मिसाइल के हमले में नष्ट कर दिया गया। युद्धपोत से छोड़ी गई इस मिसाइल ने यूक्रेन के झीटोमीर इलाके में स्थित शस्त्रागार को निशाना बनाया। रूस ने ओडेसा शहर के नजदीक स्थित तेल गोदाम पर मिसाइल से हमला कर उसे बर्बाद कर दिया है। इसके अतिरिक्त यूक्रेन के दो सुखोई-25 लड़ाकू विमानों और 14 ड्रोन को नष्ट करने का भी दावा किया गया है।

रूस ने फिनलैंड की गैस आपूर्ति रोकी

रूसी गैस कंपनी गैजप्रोम ने शनिवार सुबह से फिनलैंड के लिए प्राकृतिक गैस की आपूर्ति बंद कर दी। रूसी कंपनी ने ऐसा फिनलैंड की सरकारी कंपनी गैसम द्वारा गैस मूल्य का रूबल में भुगतान न करने के कारण किया। फिनलैंड के अमेरिका के नेतृत्व वाले सैन्य संगठन नाटो की सदस्यता के लिए आवेदन करने के तीन दिन बाद रूस ने उसकी गैस आपूर्ति रोकी है। नाटो में शामिल होने के बाद फिनलैंड को द्विपक्षीय संबंध बिगड़ने की चेतावनी रूस ने पहले ही दे दी थी।  

Edited By: Krishna Bihari Singh