वाशिंगटन। कोरोना महामरी से जूझ रहे अमेरिका के सभी 50 राज्‍यों में लॉकडाउन जारी है। अमेरिका को इस महामारी से जंग की बड़ी भारी कीमत चुकानी पड़ रही है। वह न सिर्फ इस वायरस से सबसे अधिक प्रभावित देश है बल्कि वहां पर इसकी वजह से होने वाली मौतों का आंकड़ा भी सबसे अधिक है। यहां 6,78,210 लोग संक्रमित हैं और अब तक 34641 मरीजों की जान इस महामारी के कारण जा चुकी है।

17 अप्रैल तक पूरी दुनिया में कोरोना वायरस के 2190303 मामले सामने आए हैं। इसके अलावा 147027 मरीजों की मौत इसकी वजह से हो चुकी है। इन सभी के बावजूद राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप दावा कर रहे हैं कि अमेरिका में महामारी का सबसे बुरा दौर बीत चुका है। वहीं दूसरी तरफ ट्रंप आने वाले दिनों में लॉकडाउन को खोलने की भी बात कर रहे हैं। इसको तीन चरणों में किया जा सकता है, जिसके लिए गवर्नर स्‍वतंत्र होंगे। ट्रंप ने इस योजना का नाम Opening Up America Again दिया है।

आपका बता दें कि अमेरिकी कानून के मुताबिक किसी भी आपात स्थिति में राज्‍य के गवर्नरों को ये अधिकार है कि वे अपने यहां पर लॉकडाउन लागू कर सकते हैं। वहीं अमेरिका के राष्‍ट्रपति को पूरे देश में लॉकडाउन करने का अधिकार नहीं है। राष्‍ट्रपति केवल बाहर से आने वाले यात्रियों को प्रतिबंधित करने का अधिकार रखता है। लॉकडाउन को हटाने और कोरोना वायरस के प्रकोप की के बारे में जानकारी देते समय राष्‍ट्रपति ट्रंप ने कहा कि अमेरिका ने दुनिया के मुकाबले सबसे तेजी और सबसे सटीक जांच प्रणाली विकसित की है। उनके मुताबिक अमेरिका में अब तक कोरोना की 48 विभिन्न जांच को मंजूरी दी जा चुकी है। इसके अलावा कोरोना की जांच की क्षमता को बढ़ाने के लिए तीन सौ कंपनियों और लैब काम कर रही हैं।

Opening Up America Again की थ्री स्‍टेज

राष्‍ट्रपति ट्रंप ने लॉकडाउन को लेकर जो तीन चरण तैयार किए हैं उसके पहले चरण में जो चीजें खोलने की इजाजत दी जाएगी उनमें ये सुनिश्चित किया जाएगा कि व्‍यक्तियों से आपसी के नियमों को सख्‍ती से लागू करवाया जा सके। इसके दूसरे चरण जरूरी ऑफिसों को खोलने की इजाजत दी जाएगी। इसके नतीजों को देखते हुए तीसरे चरण में छूट का दायरा और बढ़ाया जाएगा। ट्रंप का ये भी कहना है कि सभी राज्य अपनी स्थिति का आकलन करने के बाद अलग अलग समय पर पाबंदियां हटाना शुरु करेंगे।

इस बीच अमेरिका में कोरोना से सबसे अधिक प्रभावित न्‍यूयॉर्क में गवर्नर एंड्रयू कुओमो ने लॉकडाउन की समय सीमा को 15 मई तक के लिए बढ़ा दिया है। उन्‍होंने सार्वजनिक जगहों पर लोगों के लिए मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया है। हालांकि उनका ये भी कहना है कि बीते कुछ दिनों में कोरोना के नए मामलों में कमी आई है। इस बीच उन्‍होंने वहां के होटलों के कमरों का इस्‍तेमाल क्वारंटीन के लिए करने की योजना है। आपको यहां पर ये भी बता दें कि न्‍यूयॉर्क के गवर्नर और वहां के मेयर के बीच पिछले दिनों टकराव की भी खबरें सामने आई थी। न्यूयॉर्क के मेयर बिल डे ब्लासियो का कहना है कि उनका शहर टैक्स राजस्व में अनुमानित 7.4 अरब डॉलर के नुकसान के संकट से जूझ रहा है। .

ये भी पढ़ें:- 

Work from Home करने वालों को विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने दी हैं कुछ जरूरी नसीहत, रखें ध्‍यान

तापमान बढ़ने से खत्‍म नहीं होगा कोरोना वायरस, कम या ज्‍यादा तापमान से नहीं पड़ा कोई फर्क

Covid-19: क्‍या आपको मंजूर है WHO प्रमुख को ये हेल्‍थ चैलेंज, कर पाएंगे, है इतना विश्‍वास

जानें कोरोना से जंग जीतने के लिए कैसे भारत के उठाए गए कदमों को फॉलो कर रहा है जर्मनी 

Posted By: Kamal Verma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस