वाशिंगटन, एपी। अमेरिका में कोरोना वायरस के संक्रमण से हालात दिनोंदिन खराब होते जा रहे हैं। अमेरिका के रक्षा मुख्‍यालय पेंटागन ने बताया कि सोमवार सुबह तक 1,132 अमेरिकी सैनिकों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। इसमें नेशनल गार्ड के 303 सदस्यों में संक्रमण पाया गया है। सबसे अध‍िक 431 मामले नौसेना में पाए गए हैं जिनमें 150 से ज्यादा कर्मचारी विमान वाहक पोत यूएसएस थियोडोर रूजवेल्ट के चालक दल के सदस्य हैं। जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी से प्राप्‍त आंकड़ों के मुताबिक, अमेरिका में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्‍या 3,27,000 से ऊपर पहुंच चुकी है जबकि 9300 से ज्‍यादा लोग मारे गए हैं।

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने देशवासियों को आगाह किया है कि आने वाले दो हफ्ते बेहद कठिन होने वाले हैं। इन दो हफ्तों के दौरान बड़ी संख्या में मौतें होंगी। वहीं देश के सर्जन जनरल जेरोम एडम्स ने कहा है कि यह दौर पर्ल हार्बर और 9/11 की घटना जैसा होगा। एजेंसियों की रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिका में हालात इतने खराब हो गए हैं कि अस्पतालों के मुर्दाघरों में जगह कम पड़ने से शवों के रखने के लिए अस्थायी मुर्दाघर बनाये जा रहे हैं। यही नहीं शवों का अंतिम संस्कार करने में कठिनाई आ रही है। कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि हालात बिगड़ने से इस बीमारी से अमेरिका में एक से दो लाख लोगों की जान जा सकती है।

ट्रंप का कहना है कि अमेरिका में अब तक 16 लाख लोगों की जांच की गई है जो बाकी देशों के मुकाबले सबसे ज्यादा है। अमेरिका ने इस महामारी को बड़ी आपदा की घोषणा कर दी है। हालात ऐसे हैं कि अमेरिका की 33 करोड़ आबादी में से 95 फीसद से ज्यादा लोग घरों के अंदर रहने को मजबूर हैं। कोरोना से दुनियाभर में 70 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। इस महामारी से यूरोप सर्वाधिक प्रभावित है। अब तक इस बीमारी से अकेले यूरोप में ही 50,209 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 6,75,580 लोग संक्रमित हैं। इटली में सर्वाधिक 15,877 लोगों की मौत हुई है जबकि स्पेन में 13,055 की जान जा चुकी है। फ्रांस में 8,078 और ब्रिटेन में 4,934 लोगों की मौत हुई है। 

Posted By: Krishna Bihari Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस