वाशिंगटन, प्रेट्र । अमेरिकी खुफिया प्रमुख के अनुसार पाकिस्तान नये किस्म के परमाणु हथियार विकसित कर रहा है। इसमें कम दूरी के सामरिक हथियार भी शामिल हैं। आतंकवाद के पनाहगार देश पाकिस्तान के बारे में यह जानकारी सामने आने से दक्षिण एशिया क्षेत्र के लिए खतरा और बढ़ गया है।

अमेरिका के नेशनल इंटेलिजेंस के निदेशक डान कोट्स ने अमेरिकी उच्च सदन सीनेट में सांसदों को बताया कि पाकिस्तान नए किस्म के परमाणु हथियार बनाने में जुटा हुआ है। वह नासिर्फ परमाणु हथियार बनाना जारी रखे हुए है बल्कि वह अब नए किस्म के कम दूरी के परमाणु हथियार बना रहे है। जो निश्चित रूप से भारत पर निशाना लगाने के लिए ही हैं। इन परमाणु हथियारों में समुद्र केंद्रित क्रूज मिसाइलें, हवा से छोड़ी जाने वाली क्रूज मिसाइल और लंबी दूरी की बैलिस्टिक मिसाइलें शामिल हैं। इन नए किस्म के परमाणु हथियारों से भारत समेत क्षेत्रीय सुरक्षा के लिए खतरा बढ़ गया है।

उन्होंने यह कह कर भी चेताया कि पाकिस्तान समर्थित आतंकी संगठन भारत के अंदर आतंकी हमले जारी रखेंगे। इससे दोनों पड़ोसी देशों के बीच तनाव और बढ़ने का खतरा है।

कोट्स ने यह संदेश विगत शनिवार को जम्मू में सुंजवान सैन्य शिविर में पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मुहम्मद के हमले के बाद दिया है। कोट्स ने अमेरिका के उच्च सदन सीनेट की चयन समिति के सामने पेश होकर कहा कि पाकिस्तान अमेरिकी हितों को नुकसान पहुंचाता रहेगा। पाकिस्तान नए परमाणु हथियारों को तैनात कर रहा है। आतंकवादियों से संबंध बना रहा है। आतंकवाद रोधी कार्यक्रमों में बाधा डाल रहा है और चीन से नजदीकियां बढ़ा रहा है। कोट्स ने बताया कि अमेरिकी हितों के खिलाफ पाकिस्तानी समर्थन वाले यह आतंकी संगठन पाकिस्तान में सुरक्षित पनाह लेकर भारत और अफगानिस्तान के खिलाफ हमले करेंगे।

चीन से भी बढ़ेगा तनाव :

अमेरिकी खुफिया प्रमुख कोट्स ने भारत और चीन के बीच भी तनाव जारी रहने की आशंका जताई है। उनका कहना है कि भारत और चीन के बीच संबंध तनावपूर्ण रहेंगे। पूर्वी एशिया में चीन अपनी सक्रिय विदेश नीति लागू करने पर आमादा रहेगा। दक्षिण चीन सागर को लेकर चीन के संबंध ताइवान से भी और खराब होंगे।

अाने वाले दिनों में भी नहीं सुधरेंगे भारत-पाक संबंध

अमेरिकी खुफिया विभाग की रिपोर्ट इशारा करती है कि भारत और पाकिस्तान के बीच संबंध आने वाले दिनों में भी नहीं सुधरेंगे। सुंजवां आर्मी कैंप में हुए आतंकी हमले के बाद भारतीय रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा था कि पाकिस्तान को इन हरकतों की कीमत चुकानी होगी।

इसके जवाब में पाकिस्तानी रक्षा मंत्री खुर्रम दस्तगीर खान ने कहा है कि इस्लामाबाद किसी भी दुस्साहस पर भारत को उसी की भाषा में जवाब देगा। खान ने कहा कि बिना तथ्यों को प्रमाणित किए फौरन पाकिस्तान पर आरोप लगाने के बजाए भारत को पाकिस्तान के खिलाफ सरकार जासूसी कराने पर जवाब देना चाहिए।

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की एक-एक इंच जमीन की ढृढ़ता से रक्षा की जाएगी। दस्तगीर ने कहा कि किसी भी भारतीय आक्रामकता, रणनीतिक गलत अनुमान या किसी भी दुस्साहस को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और उसका समान और उचित जवाब दिया जाएगा।

Posted By: Sanjeev Tiwari