न्‍यूयॉर्क, पीटीआइ। चीन के वुहान शहर के बाद अमेरिका का न्‍यूयॉर्क शहर कोरोना वायरस के संक्रमण दूसरा एपिक सेंटर साबित हुआ है। यहां, कोविड-19 के संक्रमण से मरनेवालों का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है। इस बीच न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि न्यूयॉर्क में कोरोना वायरस संक्रमण एशिया से आए यात्री नहीं, बल्कि संभवत: यूरोप से आए यात्री लेकर आए।

इस रिपोर्ट में कहा गया कि कोरोना वायरस का केंद्र बन चुके न्यूयार्क में, मार्च में पहला पॉजिटिव केस सामने आने से कई हफ्ते पहले से यह संक्रमण फैल रहा था। न्यूयार्क टाइम्स के शोध में पता चला कि कोविड-19 संक्रमण के फैलने का पता लगाया जा सकता था, बशर्ते गहन जांच कार्यक्रम चलाया जाता। रिपोर्ट के मुताबिक, न्यूयार्क में कोविड-19 का पहला मामला एक मार्च को सामने आया था, लेकिन यह राज्य में फरवरी मध्य से ही फैलना शुरू हो गया था। यह संक्रमण एशिया से नहीं, बल्कि मुख्य रूप से यूरोप से आए यात्री लाए।

इस अध्ययन के सह शोधकर्ता माउंट सिनाई में इचान स्कूल आफ मेडिसिन में जिनेटिक विशेषज्ञ हर्म वान बकेल ने कहा, 'बहुसंख्यक लोग साफ तौर से यूरोप से आए यात्री हैं।' एनवाययू ग्रॉसमैन स्कूल आफ मेडिसिन के एक अन्य अध्ययन में भी कुछ इसी तरह के निष्कर्ष निकले हैं। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 31 जनवरी को चीन से लौटे विदेशी नागरिकों के देश में प्रवेश पर रोक लगाई थी, लेकिन अधिकतर यूरोपीय देशों से आए यात्रियों के प्रवेश पर रोक 11 मार्च को लगाई गई थी।

इधर, न्‍यूयॉर्क के गवर्नर एंड्रयू कुओमो ने बताया कि महामारी स्थिर होती दिखाई दे रही है। पिछले 24 घंटों में 779 लोगों की मौत हुई है, जिससे न्यूयॉर्क राज्य में कोविड-19 से हुई कुल मौतों की संख्या 6,268 हो गई है। इससे पहले पिछली सर्वाधिक मौत सोमवार को हुई थीं, उस दिन 731 लोगों की मौत हुई थी। अमेरिका में घातक कोरोना वायरस महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित न्यूयॉर्क है, जहां हुई मौत देशभर में होने वाली मौतों का लगभग आधा हैं। गवर्नर ने कहा कि मौत में वृद्धि के बावजूद, सामाजिक प्रतिबंधों के कारण अस्पताल में भर्ती मरीजों के दर में कमी आ रही है। जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी द्वारा बुधवार शाम साढ़े आठ बजे के अनुसार अमेरिका में लगातार दूसरे दिन कोरोना वायरस से 1973 मौतें दर्ज की गई, जिससे अमेरिका में मृतकों की कुल संख्या 14,695 हो गई है।

Posted By: Tilak Raj

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस