सैन फ्रांसिस्को, एएफपी/रॉयटर। Nearly 6000 Physical assaults reported in US to Uber दिग्‍गज अमेरिकी राइड कंपनी उबर को अमेरिका में साल 2017 और 2018 के बीच यौन उत्पीड़न की करीब 6,000 शिकायतें मिली हैं। समाचार एजेंसी एएफपी के मुताबिक, इनमें से 450 से अधिक मामले दुष्‍कर्म के हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि कंपनी को साल 2017 और 2018 में दुष्‍कर्म की 464 शिकायतें और दुष्‍कर्म की कोशिश की 587 शिकायतें मिलीं।

अमेरिका की दिग्‍गज राइड शेयरिंग कंपनी ने बृहस्‍पतिवार को उक्‍त आंकड़े जारी किए। रिपोर्ट में दो वर्ष के दौरान कंपनी से जुड़े 19 जानलेवा मामलों का भी खुलासा हुआ है। दुनियाभर में महिलाओं के उत्पीड़न की बढ़ती शिकायतों को देखते हुए उबर और उसकी प्रतिद्वंद्वी कंपनी ‘लिफ्ट’ पर लगातार इनसे निपटने का दबाव बनाया जा रहा है। एएफपी की रिपोर्ट के मुताबिक, यह पहली बार है जब उबर ने इस तरह के आंकड़े जारी किए हैं।

कंपनी की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, उत्पीड़न के अन्य मामले बिना सहमति के छूने और चुंबन से जुड़े हैं। हालांकि, इसी अवधि (साल 2017 से 2018 के बीच) में पांच सबसे गंभीर श्रेणी के यौन उत्पीड़न मामलों में 16 फीसद की गिरावट देखी गई है। रिपोर्ट के मुताबिक, साल 2017 में जानलेवा उत्पीड़न के 10 और 2018 में 09 मामले सामने आए। इनमें मारे गए लोगों में आठ सवारियां, सात चालक और चार तीसरे पक्ष के लोग थे।

इससे पहले आई मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, कुछ ही दिन पहले उबर ने भारत में अपने ग्राहकों के लिए एक नया फीचर 'Safety Helpline' लॉन्च किया था। कंपनी ने इस कवायद के पीछे अपने ग्राहकों को सुरक्षा मुहैया कराने की बात कही थी। कंपनी ने इसी साल मार्च में चंडीगढ़ में इस फीचर का पायलय प्रोग्राम चलाया था। अब यह फीचर पूरे भारत में उपलब्ध हो गया है। इसका उपयोग यात्री कभी भी कर सकते हैं।

Posted By: Krishna Bihari Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस