नई दिल्ली [जागरण स्पेशल]। नासा को अंतरिक्ष से आकर पृथ्वी से टकराने वाले ग्रहों पर नजर रखने के लिए जाना जाता है। नासा की एक खास टीम ऐसे ग्रहों पर खास नजर भी रखती है। हाल ही में नासा के वैज्ञानिकों ने ग्रहों के एक झुंड को देखा है जो तेजी से पृथ्वी की ओर बढ़ रहा है। वैज्ञानिकों का कहना है कि ग्रहों का ये झुंड पृथ्वी की ओर बहुत तेजी से बढ़ रहा है और कुछ समय में ये पृथ्वी से टकराएगा। वैज्ञानिकों ने ये भी उम्मीद जताई है कि ग्रहों का ये झुंड मंगलवार की देर रात तक या बुधवार तड़के पृथ्वी की कक्षा में प्रवेश कर सकता है।

सेंटर फॉर नियर-अर्थ ऑब्जेक्ट स्टडीज 

नासा के सेंटर फॉर नियर-अर्थ ऑब्जेक्ट स्टडीज (CNEOS)के अनुसार जो ग्रह पृथ्वी की ओर आ रहा है उसकी गति लगभग 19 हजार मील प्रति घंटा है। ये लगभग 44 मीटर चौड़ा भी है। इस तरह के ग्रह को 2019 VW1 नाम दिया गया है। ये चार ग्रह एक साथ पृथ्वी की ओर तेजी से बढ़ रहे हैं। दूसरे ग्रह की पहचान 2019 वीके 3 के रूप में की गई है और इसकी चौड़ाई 43 मीटर है।

VK3 के पीछे पीछे 2019 VN2 ग्रह चल रहा है, जो केवल 24 मीटर चौड़ा है। चौथे Asteroids (क्षुद्रग्रह) को UB14 के नाम से पुकारा जा रहा है। ये लगभग 38 मीटर चौड़ा है। नासा की ओर से बताया गया है कि ये वर्तमान में 35,000 मील प्रति घंटे की गति से पृथ्वी की ओर बढ़ रहे है। नासा ने तेज चट्टानों को नियर-अर्थ ऑब्जेक्ट्स या NEO Asteroids (क्षुद्रग्रहों) के रूप में करार दिया है, जो धूमकेतु और क्षुद्रग्रह हैं। 

18 हजार से अधिक है नियर-अर्थ ऑब्जेक्ट्स 

नासा ऐसी सभी स्पेस चट्टानों पर नजर रखता है। जिससे जब वो पृथ्वी से टकराएं तो उससे क्या दुष्प्रभाव होने वाला है उसके बारे में पता चल जाए। इस बारे में एक और एजेंसी नजर रखती है उसका नाम प्लैनेटरी डॉट ओआरजी है। इस संस्था की ओर से जारी 2018 की एक रिपोर्ट के अनुसार पृथ्वी के पास 18,000 से अधिक NEO हैं। इनमें से कुछ संभावित रूप से बहुत अधिक खतरनाक होते हैं। नासा के अनुसार इनका व्यास 460 फीट से अधिक होता है। यदि ये तेज रफ्तार से पृथ्वी से टकराते हैं तो इससे बड़े नुकसान की संभावना रहती है। 

नासा की टीम रख रही Asteroids पर नजर 

नासा की टीम पृथ्वी की कक्षा से टकराने वाले किसी भी तरह के Asteroids पर नजर बनाए रखती है। इसके लिए नासा की ओर से व्यापक तैयारी भी की जाती है। बीते साल जून में अंतरिक्ष एजेंसी ने एक योजना शुरू की थी, जिसमें अमेरिका को NEOs के लिए बेहतर कार्ययोजना तैयार करना था। नासा के प्रशासक जिम ब्रिडेनस्टाइन ने कहा कि Asteroids (क्षुद्रग्रह) को हल्के में नहीं लिया जाना चाहिए। ये पृथ्वी के लिए सबसे बड़ा खतरा है। यदि इन पर नजर नहीं रखी गई और किसी दिन कोई बड़ा Asteroids पृथ्वी से टकरा गया तो इससे काफी बड़ा नुकसान हो सकता है। 

Posted By: Vinay Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप