वाशिंगटन, एजेंसियां। दुनिया में जानलेवा कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 6,17,084 हो गई है। इस महामारी से अब तक 28,376 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। अकेले यूरोप में ही तीन लाख से अधिक लोग इस बीमारी की चपेट में है। इटली और स्पेन में तो हाहाकार मचा है। शुक्रवार को इटली में 918 लोगों की मौत हुई। इस प्रकार यहां मृतकों की संख्या बढ़कर 9,134 हो गई है। शनिवार को इटली में मरने वाला का यह आंकड़ा 10 हजार के पार कर गया। करीब 86,498 संक्रमित हैं। उधर स्पेन में पिछले चौबीस घंटों में 832 लोगों की जान गई है। यहां मृतकों की संख्या का आंकड़ा 5,690 हो गया है, 72,248 संक्रमित हैं। नेशनल हेल्थ इंस्टीट्यूट के सिल्वियो ब्रसफेरो ने आशंका जताई है कि इटली में आने वाले दिनों में स्थिति और खराब हो सकती है।आइये जानते हैं क्‍या है दुनिया के हालात...

2009 की मंदी से भी बुरे होंगे हालात

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष की प्रमुख क्रिस्टालिना जार्जीवा ने कहा है कि विकासशील देशों की मदद के लिए बड़े पैमाने पर धन की आवश्यकता होगी। विश्व में मंदी की शुरुआत हो चुकी है और इसके हालात वर्ष 2009 से भी बुरे होंगे। बता दें कि अस्सी से अधिक देश अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष से आपातकाल सहायता की गुहार लगा चुके हैं।

चीन में लॉकडाउन में ढील के बाद भड़की हिंसा

चीन में कोरोना वायरस का केंद्र बने हुबेई प्रांत में अब हिंसा की स्थिति पैदा होने लगी है। यहां लॉकडाउन में ढील मिलते ही बड़ी संख्या में लोग अन्य प्रांतों की ओर जाने लगे। इसी दौरान प़़डोस के जियांग्शी प्रांत की ओर जाते समय एक पुल पर रोके जाने पर लोगों ने सरकारी वाहनों पर हमला कर दिया। हुबेई की 5.6 करोड़ से ज्यादा जनता 23 जनवरी से लॉकडाउन का सामना कर रही है। संक्रमण के नए मामलों पर रोक के बाद हाल ही में लॉकडाउन में ढील दी गई है।

चीन में तीन की मौत, 54 नए केस 

चीन में दूसरे देशों से कोरोना से संक्रमित होकर आए 54 नए मामले दर्ज किए गए हैं। इससे आयातित मामलों की संख्‍या 649 पर पहुंच गई है। वहीं शुक्रवार को कोरोना संक्रमित तीन और लोगों की मौत हो गई जिससे मरने वालों की संख्‍या बढ़कर 3,295 हो गई है। चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने बताया कि फ‍िलहाल कोविड-19 का कोई स्थानीय मामला सामने नहीं आया है। चीन में अब तक 81,394 मामले सामने आए हैं। समाचार एजेंसी पीटीआइ की मानें तो हुबेई प्रांत के विभिन्‍न इलाकों को धीरे-धीरे खोला जा रहा है।

ईरान में 24 घंटे में 139 की गई जान

ईरान में शनिवार को एक ही दिन में कोरोना संक्रमण के 2,517 नए केस सामने आए जबकि 24 घंटे में 139 लोगों की मौत हो गई है। ईरान में अब तक 35,408 लोग इस वायरस से संक्रमित हैं जिनमें से 3,206 की हालत नाजुक है। सरकार ने इस महामारी से लड़ने के लिए बजट के 20 फीसदी हिस्‍से को कोरोना से लड़ने के लिए आवंटित किया है। ईरान में अफवाहें भी फैलने लगी हैं जिनकी वजह से लोगों की जान जा रही है। कल एक अफवाह के बाद ईरान में कई लोगों ने मेथेनॉल पी ली जिससे 300 लोगों की मौत हो गई।

ब्राजील के राष्ट्रपति को आंकड़ों पर यकीन नहीं

लैटिन अमेरिकी देश ब्राजील के सबसे बड़े शहर साओ पॉलो पर इस महामारी का सबसे ज्यादा असर हुआ है। देश में हुई 92 मौतों में से 68 अकेले साओ पॉलो में हुई हैं। हालांकि कोरोनावायरस की तुलना छोटे से फ्लू से करने वाले देश के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो को इन आंकड़ों पर यकीन नहीं है। उन्होंने कहा कि उन्हें संदेह है कि कुछ लोग अपने राजनीतिक हितों को पूरा करने के लिए आंकड़ों को बढ़ा-चढ़ाकर बता रहे हैं।

ब्रिटिश पीएम जॉनसन ने की ट्रंप से बात

सोशल मीडिया पर स्वयं को कोरोना से संक्रमित बताने के कुछ देर बाद ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन ने फोन पर ट्रंप से बात की और महामारी से निपटने पर चर्चा की। प्रधानमंत्री के सरकारी निवास 10 डाउनिंग स्ट्रीट के प्रवक्ता ने बताया कि महामारी से लड़ने के लिए दोनों नेताओं ने जी-7, जी-20 सहित अन्य अंतरराष्ट्रीय मंचों पर साथ काम करने पर सहमति जताई है।

पाकिस्तान में संक्रमितों की संख्या 1400 के पार

इमरान सरकार की लापरवाही के चलते पाकिस्तान में जानलेवा कोरोना वायरस कहर बरपा रहा है। सरकारी हीलाहवाली का ही नतीजा है कि पाकिस्तान का पंजाब प्रांत कोरोना संक्रमित लोगों का नया केंद्र बनकर उभर रहा है। शनिवार को इस सूबे में 490 नए मामले सामने आए। इस तरह पूरे पाकिस्तान में संक्रमित लोगों की संख्या 1408 हो गई। जो लोग संक्रमित हुए हैं, उनमें से अधिकांश ईरान से लौटे हैं। संक्रमित लोगों में सात की हालत गंभीर है। अभी तक कोविड-19 से पूरे देश में 11 लोगों की मौत हो चुकी है।

देश मौत संक्रमित

इटली 9,134-86,498

स्पेन 5,690 72,248

चीन 3,295-81,394

ईरान 2517-35,408

अमेरिका 1704-1,04,277

फ्रांस 1995-32,964

ब्रिटेन 759-14,543

- ईरान के कुर्दिशस्तान प्रांत में जेल तोड़कर 80 कैदी भागे।

- टोक्यो स्थित एक दिव्यांग केंद्र में संक्रमण के 57 नए मामले सामने आए हैं।

...तो खत्म हो जाएगा ईयू का उद्देश्य

इटली के प्रधानमंत्री ग्यूसेप कोंते ने शनिवार को चेतावनी दी कि यूरोपीय संघ (ईयू) अगर महामारी से निपटने में किसी तरह का पैकेज घोषित करने में नाकाम रहता है तो वह अपना उद्देश्य खो देगा। उन्होंने यह टिप्पणी यूरोपीय यूनियन के 27 देशों की वीडियो कांफ्रेंसिंग के बाद की। बता दें कि महामारी से निपटने के लिए कार्ययोजना बनाने के उद्देश्य से यह वीडियो कांफ्रेंसिंग सम्मेलन बुलाया गया था, लेकिन सभी देश एकमत नहीं हो सके, जिसके बाद सदस्य देशों के वित्त मंत्रियों को कार्ययोजना बनाने के लिए दो सप्ताह और दे दिए गए। दरअसल, इटली और स्पेन इस महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं और वे चाहते हैं कि ईयू कोरोना बांड जारी करे। यह एक तरह का कर्ज ही होगा, जिसे बाजार में बेचकर यह देश पैसा पा सकेगा। हालांकि जर्मनी और नीदरलैंड इस विचार से सहमत नहीं है।

Posted By: Krishna Bihari Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस