वाशिंगटन, प्रेट्र। दिग्गज इस्पात कारोबारी लक्ष्मी निवास मित्तल ने अमेरिका स्थित हार्वर्ड यूनिवर्सिटी को 2.5 करोड़ डॉलर (करीब 162 करोड़ रुपये) का दान दिया है। इसका मकसद भारत और अन्य दक्षिण एशियाई देशों के साथ हार्वर्ड की साझेदारी बढ़ाना है। यह रकम हार्वर्ड के साउथ एशिया इंस्टीट्यूट को दी जाएगी। इस दान के कारण संस्थान को अब 'लक्ष्मी मित्तल साउथ एशिया इंस्टीट्यूट' के नाम से जाना जाएगा।

हार्वर्ड में इस संस्थान की स्थापना 2003 में की गई थी। वर्तमान में इसके निदेशक भारतीय अमेरिकी प्रोफेसर तरुण खन्ना हैं। खन्ना ने कहा, 'इस सहयोग के लिए हम मित्तल परिवार के बहुत आभारी हैं। यह मदद हमें विज्ञान, सामाजिक विज्ञान और मानविकी क्षेत्र में अन्य लोगों व संस्थानों के साथ भागीदारी बढ़ाने में मददगार साबित होगी।' हार्वर्ड विश्वविद्यालय के अध्यक्ष ड्रियू फॉस्ट ने कहा, 'साउथ एशिया इंस्टीट्यूट' जैसे अंतरराष्ट्रीय संस्थान विश्वविद्यालय और दुनिया के बीच महत्वपूर्ण कड़ी का काम करते हैं।'

दुनिया की सबसे बड़ी स्टील कंपनी आर्सेलर मित्तल के चेयरमैन और सीईओ लक्ष्मी मित्तल ने कहा कि दक्षिण एशिया ने दुनिया के विकास में पहली सभ्यता से लेकर अब तक गतिशील और प्रभावशाली भूमिका अदा की है। मित्तल ने हार्वर्ड यूनिवर्सिटी को भी प्रगतिशीलता और संवाद को बढ़ावा देने वाला संस्थान बताया।

यह भी पढ़ें: आरुषि तलवार के माता पिता ने दान की जेल की अपनी सारी कमाई

Posted By: Manish Negi