नई दिल्ली, न्यूयॉर्क टाइम्स न्यूज सर्विस। कोरोनावायरस से बचने के लिए दुनियाभर के देश अपने-अपने तरीके से इंतजाम कर रहे हैं। कहीं कोरोना से बचने के लिए लोग अपनी इम्युनिटी बढ़ा रहे हैं तो कहीं शरीर को मजबूत करने के लिए एक्सरसाइज की जा रही है, कहीं पुराने देशी नुस्खे अपनाए जा रहे हैं तो कहीं काढ़े का सेवन किया जा रहा है। कोरोनावायरस से सबसे अधिक समस्या सीनियर सिटीजनों को हो रही है। चूंकि उनकी इम्युनिटी कमजोर हो चुकी होती है इस वजह से वो जल्द इसके संक्रमण का शिकार हो जाते हैं।

इस बीच अमेरिका के कैलिफोर्निया शहर से एक चौंकाने वाली खबर सामने आई है। यहां लोग एक ड्रिंक एवरक्लियर को स्टोर करके अपने घरों में रख रहे हैं। इन दिनों कैलिफोर्निया में इस ड्रिंक को बहुत पसंद किया जाता है, यहां तक की इस ड्रिंक पर गाने भी बनाए गए हैं। एक समय में इस ड्रिंक की मांग इतनी अधिक हो गई थी कि सरकार ने 11 राज्यों में इसको अवैध करार दे दिया गया है। ये भी कहा जाता है कि ये सफेद वोदका सामान्य वोदका से कहीं अधिक बेहतर है, इसे सफेद बुराई कहा जाने लगा।

एक ओर जहां कोरोनोवायरस से पूरी अर्थव्यवस्था तहस-नहस हो गई है वहीं दूसरी ओर टॉयलेट पेपर और रोटी बनाने में इस्तेमाल किए जाने वाले आटे की कीमतों में काफी इजाफा हो गया। एक तरह से कहा जाए तो इन घरेलू इस्तेमाल की चीजों ने बिटकॉइन की तरह से व्यापार करना शुरू कर दिया था। इसी के बाद एवरक्लियर को शराब की दुकान की अलमारियों से निकालना बंद कर दिया गया। लोगों ने इसका इस्तेमाल पीने के साथ-साथ हैंड सैनिटाइजर और अन्य कीटाणुनाशकों को मारने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली दवाईयों के विकल्प के तौर पर करना शुरू कर दिया।

दरअसल कोरोनावायरस फैलने के बाद जब से सैनिटाइजर इस्तेमाल करने पर जोर दिया गया है उसी के बाद से इसकी मांग भी बढ़ गई है। एक बात ये भी सामने आई है कि एवरक्लेयर की बोतल में इस तरह की कीटाणुओं को मारने की अधिक क्षमता है, इसका इस्तेमाल पीने में भी किया जा सकता है और जमीन के कीटाणुओं को मारने के लिए इसे फर्श पर डालकर उसे भी साफ किया जा सकता है। जब डब्ल्यूएचओ ने एल्कोहल वाले सैनिटाइजर का इस्तेमाल करने के लिए कहा है तो ये एवरक्लेयर उसके लिए एकदम मुफीद है। इसमें वो सारे घटक मौजूद हैं जो सैनिटाइजर में होते हैं, इस वजह से अधिकतर लोग इसकी बोतल खरीदकर अपने पास जमा कर ले रहे हैं जिससे वो इसका इस्तेमाल कर सकें।

वोदका बनाने वाली एक कंपनी ने अपनी साइट पर लोगों को ये सलाह दी कि उसने 325 टन सैनिटाइजर का उत्पादन किया है, लोग उसका इस्तेमाल करें, वोदका का इस्तेमाल हाथ को सैनिटाइज करने और घरों की फर्श को साफ करने में न किया जाए। लॉस एंजिल्स टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार आमतौर पर जहां शराब की दुकानों में सप्ताह में एवरक्लियर की दो से तीन बोतलें बिका करती थीं वहीं इन दिनों लोग बल्क में इसे खरीद रहे हैं। एक समय ऐसा आया कि जब दुकानों पर ये निर्देश लिखने पड़े कि एक व्यक्ति को एवरक्लियर की मात्र दो बोतलें ही दी जाएंगी, इससे अधिक नहीं। उसके बाद इनकी बिक्री पर थोड़ा अंकुश लग सका है।

कंपनी के पास ये जानकारी भी पहुंची कि लोग यहां तक कह रहे हैं कि वो एवरक्लियर का इस्तेमाल सिर्फ हाथ साफ करने में नहीं करते हैं बल्कि वो इससे फल पोंछ रहे हैं, फर्श साफ कर रहे है और घर की अन्य चीजों को भी सैनिटाइज कर रहे हैं। 2018 में एवरक्लियर ने अपनी पैकेजिंग को बदल दिया। इसके ऊपर लिखी जाने वाली चेतावनी आदि में भी बदलाव किया। अब इसकी पैकिंग बदली गई तो इस पर प्रीमियम वोदका लिख दिया गया, इससे पहले इस पर चेतावनी के तौर पर लिखा गया था कि अत्यंत ज्वलनशील और इसका अत्यधिक सेवन आपके स्वास्थ्य को खतरे में डाल सकता है।

फिलहाल यह कहना कठिन है कि एवरक्लियर इस महामारी के दौर में ग्राहकों की नजर में किस तरह से उभरकर सामने आ रही है। वो इस वोदका को सैनिटाइजर के रूप में इस्तेमाल करते हैं या फिर एक वोदका के रूप में ही। इससे नए ग्राहक इसके साथ जुड़ते हैं या वो कोरोनाकाल तक ही इसे इस्तेमाल करेंगे।

Posted By: Vinay Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस