सेंट पीटर्सबर्ग, रॉयटर। अपने प्रोडक्ट्स को लेकर विवादों में रही अमेरिकी कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन फ‍िर मुश्किलों में घिर गई है। इस बार कंपनी पर उसके उस प्रोडक्‍ट को लेकर भारी जुर्माना लगा है जिसके बारे में एक शाख्‍स का आरोप है कि उक्‍त दवा के इस्‍तेमाल से उसके ब्रेस्‍ट उभर गए। शिकायत में यह भी कहा गया है कि कंपनी की ओर से इस बारे में पहले आगाह नहीं किया गया था। इस शिकायत पर फिलाडेल्फिया की ज्‍यूरी ने कंपनी पर आठ बिलियन डॉलर का जुर्माना लगाया गया है।

समाचार एजेंसी के मुताबिक, फिलाडेल्फिया की एक कोर्ट ने जॉनसन एंड जॉनसन को आरोपों को झूठा साबित करने का समय दिया लेकिन वह ऐसा करने में विफल रही जिसके बाद याचिका दायर करने वाले शख्स के पक्ष में फैसला सुनाया गया। वहीं जॉनसन एंड जॉनसन ने कहा कि मामले में उसकी ओर से पेश किए गए सबूतों को नहीं सुना गया। कंपनी पर जो जुर्माना लगाया गया है वह असम्‍मानजनक है। कंपनी इस केस में फ‍िर से उच्च न्‍यायालय में याचिका दाखिल करेगी।

बता दें कि जॉनसन एंड जॉनसन के प्रोडक्ट्स पूरी दुनिया में इस्तेमाल किए जाते हैं। खासतौर पर बच्चों से जुड़े प्रोडक्ट्स के लिए यह चर्चित कंपनी है। बता दें कि इससे पहले नशीली दवाओं के इस्तेमाल से जुड़े ओपॉयड संकट मामले में कंपनी पर करीब 4,100 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया था। अमेरिका के ओकलाहोमा राज्य की कोर्ट ने यह फैसला सुनाया था। अपने फैसले में अदालत ने कहा था कि जॉनसन एंड जॉनसन ने अपने फायदे के लिए डॉक्टरों को नशीली दर्दनिवारक दवाएं लिखने के लिए मनाया।

Posted By: Krishna Bihari Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप