वाशिंगटन, एएनआइ। बाइडन प्रशासन ने चीनी एप्स टिकटॉक और वीचैट पर रोक लगाने की दिशा में की गई पहल से संबंधित पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के कार्यकारी आदेशों को वापस ले लिया है। इसेक साथ ही चीनी एप्लिकेशन से संबंधित राष्ट्रीय सुरक्षा खतरों की पहचान करने के लिए खुद समीक्षा करने का फैसला किया है।

व्हाइट हाउस के नए कार्यकारी आदेश में वाणिज्य विभाग को चीन द्वारा निर्मित, नियंत्रित या आपूर्ति किए जाने वाले एप से जुड़े लेन-देन का प्रमाण आधारित विश्लेषण करने का निर्देश दिया गया है।

व्हाइट हाउस नए सिरे से चीन की एप्स और कंपिनयों को लेकर रणनीति तैयार कर रहा है। व्हाइट हाउस ने कहा कि अब नए सिरे से इस मामले पर विचार किया जा रहा है और जल्द ही सही फैसला लिया जाएगा।

बाइडन प्रशासन ने कहा है कि हमारी सरकार लोगों को ऑनलाइन सुरक्षा का माहौल देना चाहती है, हम ग्लोबल डिजिटल इकोनॉमी का समर्थन करते हैं। ऐसे में इस फैसले को वापस लिया गया है और नए सिरे से चीजों को देखा जाएगा। अधिकारी विशेषरूप से उन एप्लिकेशंस को लेकर चिंतित हैं जो लोगों के निजी डेटा जमा करती हैं और चीनी सेना या खुफिया गतिविधियों से उनका संबंध है।

मालूम हो कि कोरोना संकट की शुरुआत में दुनियाभर में चीन का विरोध हुआ था। उस दौरान चीनी एप्स के जरिए डेटा लीक होने की बातें सामने आई थीं। इसके बाद अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने टिकटॉक, वीचैट जैसी चीनी ऐप्स पर बैन लगा दिया था।

वहीं, भारत ने भी पिछले साल चीनी एप्स टिकटॉक, वीचैट पर प्रतिबंध लगा दिया था। भारत की तरफ से करीब 100 चाइनीज एप पर बैन लगाया गया था।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप