वाशिंगटन (एजेंसी)। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बेटी इवांका ट्रंप ने कहा है कि डोनाल्ड ट्रंप के 'अमेरिका फर्स्ट' और भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'मेक इन इंडिया' अभियान न तो एक-दूसरे से बिल्कुल अलग हैं और न ही विरोधी। दोनों चीजें अपने-अपने देश की जरूरतों के हिसाब से हैं। इंवाका अगले हफ्ते हैदराबाद में आयोजित होने वाले ग्लोबल इकनॉमिक समिट में भाग लेने के लिए भारत आ रही हैं।

मंगलवार को एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान इवांका ने कहा, "अमेरिका फर्स्ट बाकी दुनिया से अलग-थलग हो जाने की शर्त पर नहीं है। अधिकतर सरकारें अपने नागरिकों को प्राथमिकता देती हैं, लेकिन ऐसा खुद तक सिमट कर नहीं किया जाता। ट्रंप प्रशासन भारत के साथ मजबूत रिश्ते और आपसी सहयोग में विश्वास रखता है, ताकि दोनों देशों की अर्थव्यवस्था बढ़े।"

आपको बता दें कि इंवाका 28 से 30 नवंबर तक हैदराबाद में आयोजित हो रहे ग्लोबल इंटरप्रीन्यूरशिफ समिट (जीईएस-2017) में हिस्सा लेने के लिए आ रही हैं ऐसे में भारत सरकार भी इंवाका ट्रंप की आगवानी में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती है।

इंवाका के दौरे को लेकर भारतीय उद्यमियों खास तौर से तकनीक विशेषज्ञों में कुछ ज्‍यादा ही उत्‍साह देखने को मिल रहा है। 'मेल ऑनलाइन' के अनुसार, टेक स्‍टार्ट-अप के कार्यक्रम के लिए उन लोगों के आवेदनों की बाढ़ आ गई है, जो भारत और अमेरिका के बीच मजबूत होते संबंधों के बीच उबर, एयरबीएनबी या ड्रॉपबॉक्‍स लॉन्‍च करने की उम्‍मीद लगाए हुए हैं। बताया जा रहा है कि हजारों की संख्‍या में भारतीय उद्यमी 28 नवंबर से शुरू होने जा रहे इस सम्‍मेलन में हिस्‍सा लेना चा‍हते हैं।

यह भी पढ़ें: इवांका ट्रंप के स्वागत की तैयारी, हैदराबाद में जीईसी-2017 में लेंगी हिस्सा

यह भी पढ़ें: इवांका ट्रंप के भारत दौरे से पहले फलकनुमा क्षेत्र के लोगों पर लगे ये प्रतिबंध

Posted By: Kishor Joshi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस