वाशिंगटन, प्रेट्र। अमेरिका में नए कोरोना वायरस का संक्रमण काफी तेजी से फैल रहा है जिसके कारण वहां पूरी तरह लॉकडाउन लागू है लेकिन इस चक्‍कर में वहां भारतीय छात्र फंस गए हैं। उन्‍हें संकट से उबारने में मदद का हाथ भारतीय मूल के नागरिकों ने बढ़ाया है।

दरअसल, अमेरिका के कई राज्यों में लॉकडाउन होने के कारण वहां बड़ी संख्या में भारतीय छात्र फंस गए हैं। उनकी मदद के लिए वहां रहने वाले भारतीय मूल के होटल कारोबारी सामने आए हैं। यात्रा प्रतिबंधों के कारण देश वापस न आ सकने वाले भारतीय छात्रों को ये भारतवंशी रहने और भोजन की मुफ्त सुविधा दे रहे हैं।

कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण भारत ने गत 22 मार्च से अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर रोक लगा दी है। अमेरिका के कई राज्यों में भी हालात बिगड़ने पर लोगों को घरों में रहने का आदेश दिया गया है। इन हालात में हॉस्टल खाली करने का आदेश मिलने पर हजारों भारतीय छात्रों के सामने आशियाने का संकट खड़ा हो गया है।

इसके लिए भारतीय दूतावास की ओर से अपील की गई है। इसके बाद ही ऐसे छात्रों के लिए करीब 700 होटलों से छह हजार कमरों का प्रस्ताव मिल चुका है। भारतीय छात्रों की मदद के लिए वहां मौजूद भारतीय दूतावास ने हेल्पलाइन नंबर जारी किया है। अमेरिका में ढाई लाख से ज्यादा भारतीय छात्र पढ़ते हैं।

अमेरिका में भारतीय राजदूत तरणजीत सिंह संधू ने कहा, 'यह देखकर खुशी हो रही है कि भारतीय छात्रों की मदद के लिए भारतवंशी और अन्य होटल मालिक मदद के लिए आगे आ रहे हैं। एकजुटता से हम कोरोना वायरस के खिलाफ मुकाबला जीत सकते हैं।'

बता दें कि चीन से शुरू होकर नया कोरोना वायरस दुनिया के 196 देशों को अपने चपेट में ले चुका है। चीन व इटली को बुरी तरह प्रभावित करने के बाद अब यह अमेरिका में तबाही मचा रहा है।

 

Posted By: Monika Minal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस