वाशिंगटन, पीटीआइ। भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिक अरुण एम कुमार अमेरिका के 'कॉउंसिल ऑन फॉरेन रिलेशन' (सीएफआर) में बतौर थींक टैंक के रूप में निर्वाचित हुए हैं। अरुण कुमार अमेरिका के पूर्व राष्‍ट्रपति बराम ओबामा की टीम का भी हिस्‍सा रह चुके हैं। ओबामा प्रशासन में वह वाणिज्‍यक राजनयिक के पद पर काम कर चुके हैं। मौजूदा समय में वह भारत में केपीएमजी के चेयरमैन व सीइओ हैं।

अरुण कुमार अमेरिका की विदेश वाणिज्यिक सेवा में महानिदेशक के पद पर रह चुके हैं। वाणिज्‍यक क्षेत्र में ग्‍लोबल मार्केट्स के सहायक सचिव भी रहे। इस मौके पर केपीएमजी इंटरनेशनल के अध्‍यक्ष बिल थॉमस ने कहा कि हम काउंसिल ऑन फॉरेन रिलेशंस के सदस्‍य के रूप में अरुण के चुनाव पर गर्व करते हैं।

सीएफआर न केवल अमेरिका बल्कि दुनियाभर में अंतरराष्‍ट्रीय संबंधों में इसका अच्‍छा खासा दबदबा और प्रभाव रहा है। थॉमस ने कहा कि मुझे विश्‍वास है उनके अनुभवों का लाभ सीएफआरको भी मिलेगा।

कुमार ने कहा कि मैं सीएफआर में शामिल होने पर गौर्वान्वित महसूस कर रहा हूं। उन्‍होंने कहा सीएफआर का कार्यक्षेत्र व चुनौतियां पहले से अधिक व्‍यापक हुई हैं। कुमार ने कहा कि मैं सीएफआर के अन्‍य सदस्‍यों के साथ इंडो पैसिफ‍िक कॉरिडोर में महत्‍वपूर्ण  और रणनीतिक विदेश नीति और व्‍यापार के मुद्दों पर विचारों एवं वार्ता को बढ़ावा देने के लिए काम करने का उत्‍सुक हूं।

Posted By: Ramesh Mishra