वाशिंगटन, प्रेट्र। अमेरिका में भारत के राजदूत तरनजीत सिंह संधू ने कहा कि दोनों देशों के बीच बहुत कम समय में रणनीतिक ऊर्जा साझेदारी मजबूत हुई है। उन्होंने यह भरोसा जताया कि इस सहयोग से भारत और अमेरिका में अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने में मदद मिल सकती है।

संधू ने कहा कि भारत के 1.3 अरब लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करने में अमेरिका एक अहम साझीदार है। मानवीय प्रयासों का ऐसा कोई क्षेत्र नहीं है, जहां भारत और अमेरिका के बीच आपसी सहयोग नहीं है। उन्होंने अमेरिकी ऊर्जा विभाग की ओर से गुरुवार को आयोजित प्राकृतिक ऊर्जा शिखर सम्मेलन में कहा, 'आपसी संबंधों के लिहाज से हाल के वर्षो में कुछ क्षेत्र महत्वपूर्ण बनकर उभरे हैं और ऊर्जा इसी तरह का एक क्षेत्र है।' संधू ने कहा, 'यह खुशी की बात है कि महज दो साल की अवधि में हमारी रणनीतिक ऊर्जा साझेदारी ने गहरी जड़ें जमा ली हैं। भारत बहुत बड़ा बाजार है।' इस सम्मेलन को अमेरिकी ऊर्जा मंत्री डेन ब्रोइलेट ने भी संबोधित किया।

जीतेगा भारत हारेगा कोरोन

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस