संयुक्त राष्ट्र, एजेंसी। India Reply On Imran संयुक्त राष्ट्र महासभा(UNGA) में भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के भाषण पर प्रतिक्रिया दी। भारत ने इमरान खान के यूएन में दिए गए संबोधन के जवाब में राइट ऑफ रिप्लाई(Right of Reply) का इस्तेमाल किया। यूएन में भारत की ओर से सचिव विदिशा मैत्रा ने पाकिस्तान को जवाब दिया। इस दौरान उन्होंने पाकिस्तानी पीएम इमरान के यूएन में दिए गए संबोधन को नफरत से भरा भाषण करा दिया और कहा कि उनका भाषण भड़ाकाऊ और झूठ से भरा हुआ था।

आइए जानते हैं UN में विदिशा मैत्रा के भाषण की दस बड़ी बातें...

1. UN में भारक की प्रथम सचिव विदिशा मैत्रा ने कहा कि इमरान खान का भाषण नफरत से भरा हुआ था, उन्होंने इसे हेट स्पीच की संज्ञा दी।इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि इमरान के भाषण में काफी बातें झूठी थी विदिशा मैत्रा ने कहा कि पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र के मंच का दुरुपयोग किया है।

2. मैत्रा ने आगे कहा कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की हालत बदतर है और उनपर जुल्म किया जा रहा है। 1947 की तुलना में वहां आज सिर्फ कुछ फीसदी अल्पसंख्यक बचे हैं। पाकिस्तान, मानवाधिकार की बात करता है लेकिन उसे पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों का हाल देखना चाहिए, जिनकी संख्या 23 प्रतिशत से घटकर 3 प्रतिशत पर पहुंच गई है।

3. पाकिस्तान पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि वो अंतरराष्ट्रीय आतंकियों को पेंशन देता है। पाकिस्तान ने खुलेआम लादेन का बचाव किया है। इसलिए भारत को मानवाधिकार पर उसकी नसीहत नहीं सुननी।'

4. उन्होंने इमरान खान से पाकिस्तानी सरजमीं पर पल रहे आतंकवादियों का मुद्दा उठाते हुए सवाल किया कि क्या इमरान पाकिस्तान की जमीं पर पल रहे घोषित 130 आतंकियों को नकार सकते हैं ?

5. विदिशा मैत्रा ने यूएन में कहा, 'दुनिया को पाकिस्तान में जाकर हालात देखना चाहिए। पाकिस्तान, आतंकवाद पर और हम विकास पर जोर दे रहे हैं। पाकिस्तान को 1971 के नियाजी का नरसंहार नहीं भूलना चाहिए।'

6. विदिशा ने कहा कि पाकिस्तान को अपना इतिहास नहीं भूलना चाहिए कि 1971 में उन्होंने अपने लोगों के साथ क्या किया था।

7. विदिशा मैत्रा ने कहा, UNGA में इमरान का भाषण दुर्भाग्यपूर्ण है। हमें आतंक की फ़ैक्टरी चलाने वाले से नसीहत नहीं चाहिए।

8. पाकिस्तान के अंदर UN में सूचीबद्ध 155 आतंकी पाकिस्तान में मौजूद हैं। पाकिस्तान फिर भी मानवाधिकार का चैंपियन बनने में लगा हुआ है। 

9. उन्होंने क्रिकेटर रहे इमरान खान से कहा कि वो जेंटलमैन गेम की बात करते थे, आज बंदूक उठाने और युद्ध की बात करते हैं।

10. आज इमरान खान का भाषण असभ्यता की चरम सीमा तक पहुंच गया जो दारा द्वारा आदम खल की बंदूकों की याद दिलाता है।

बता दें, UN में करीब 50 मिनट तक दिए भाषण में इमरान खान ने परमाणु युद्ध का राग अलापने के साथ ही कश्मीर और भारत पर हमला किया था। इसपर भारत ने पाकिस्तान सभी आरोपों को मजबूती से जवाब दिया है।

Posted By: Shashank Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस