संयुक्त राष्ट्र, प्रेट्र/आइएएनएस। पाकिस्तान संयुक्त राष्ट्र में कश्मीर मुद्दा उठाने से फिर बाज नहीं आया। इस बार उसने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में यह मुद्दा उठाने का विफल प्रयास किया। इस पर भारत ने उसे नसीहत देते हुए कहा, पाकिस्तान की नई सरकार विवादों में ना पड़े, बल्कि दक्षिण एशिया को आतंक और हिंसा से मुक्त बनाने का काम करे।

सुरक्षा परिषद में बुधवार को 'विवादों का निपटारा और मध्यस्थता' विषय पर चर्चा के दौरान पाकिस्तान की दूत मलीहा लोदी ने यह मुद्दा उठाने का प्रयास किया। उन्होंने कहा, 'जम्मू और कश्मीर विवाद लंबे समय से सुरक्षा परिषद के एजेंडे में लंबित है।'

इस पर कड़ा जवाब देते हुए संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने कहा, 'पाकिस्तान बार-बार नाकाम प्रयास कर रहा है। इसे लंबे समय से ठुकराया जा रहा है। यह ना तो शांतिप्रद इरादे और ना ही शांतिप्रद संदर्भ को दर्शाता है। मैं इस अवसर पर पाकिस्तान को यह याद दिलाना चाहता हूं कि शांतिप्रद समाधान के लिए सोच और कृत्य में शांतिप्रद इरादा चाहिए।'

अकबरुद्दीन ने प्रधानमंत्री इमरान खान के नेतृत्व वाली पाकिस्तान की नई सरकार का जिक्र करते हुए कहा, 'हम उम्मीद करते हैं कि पाकिस्तान की नई सरकार विवादों में पड़ने के बजाय सुरक्षित, स्थिर और विकसित दक्षिण एशिया बनाने के लिए रचनात्मक काम करेगी।' उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान संयुक्त राष्ट्र में कश्मीर का मुद्दा उठाने का कोई मौका नहीं चूकता, लेकिन उसे हर बार मुंह की खानी पड़ती है।

 

Posted By: Arun Kumar Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप