वाशिंगटन, एएनआइ। जलवायु परिवर्तन के मुद्दे पर भारत के कार्यो की फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने जमकर तारीफ की है। फ्रांस के राष्ट्रपति ने कहा है कि भारत की तरह ही अन्य देशों को इस क्षेत्र में नवाचार करने की आवश्यकता है।

उन्होंने कहा कि जलवायु परिवर्तन पर हमें भारत और चीन दोनों की आवश्यकता है। भारत इस मामले में पूरी तरह से प्रतिबद्ध है। भारत बहुत बड़ा लोकतांत्रिक और विविधताओं भरा देश है। उसने हमारे साथ तीन साल पहले ही जलवायु परिवर्तन पर सुधार के लिए सौर ऊर्जा की तरह कदम तेजी से उठाना शुरू कर दिया था। भारत अपने ढांचे में सुधार कर रहा है और उत्सर्जन में कमी ला रहा है। फ्रांस के राष्ट्रपति ने सीबीएस टीवी नेटवर्क पर साक्षात्कार के दौरान यह बात कही।

जलवायु परिवर्तन सहित कई मुद्दों पर भारत का वैश्विक नेतृत्व सामने आया: जॉन कैरी

ज्ञात हो कि पिछले माह ही अमेरिका के जलवायु परिवर्तन के विशेष दूत जॉन कैरी ने कहा था कि जलवायु परिवर्तन सहित कई मुद्दों पर भारत का वैश्विक नेतृत्व सामने आया है। भारत ने इसके साथ ही कोविड-19 की महामारी में पूरे विश्व को वैक्सीन उपलब्ध कराई। भारत आए जॉन कैरी ने कहा था कि यह देश पहले से ही सौर ऊर्जा के मामले में विश्व का नेतृत्व कर रहा है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप