नई दिल्ली [जागरण स्पेशल]। रोजमर्रा के जीवन में आपने तमाम चीजों के बिकने के बारे में सुना होगा मगर क्या आपने कभी किसी शीत युद्ध परमाणु मिसाइल स्थल (Cold War nuclear missile site) की बिक्री के बारे में सुना है। हम आपको आज एक ऐसी ही साइट के बारे में बता रहे हैं, ये इन दिनों बिकने के लिए तैयार है। मगर इसके खरीदार को अपनी जेब से अधिक डॉलर निकालने होंगे। ये परमाणु मिसाइल स्थल इस समय 3 लाख 95 हजार डॉलर की बिक्री के लिए तैयार है। ये कॉम्प्लेक्स यूएस के टक्सन (Tucson area), एरिज़ोना से लगभग 35 मील उत्तर में रेगिस्तान में स्थित 13 एकड़ की संपत्ति का हिस्सा है, यदि कोई खरीदार इतिहास के इस टुकड़े का मालिक बनना चाहता है तो उसे इसके लिए इतने पैसे खर्च करने होंगे। ये साइट टक्सन क्षेत्र में संयुक्त राज्य सरकार ने बनाया था और ये सरकार की ओर से बनाई गई 18 मिसाइल सिलोस में से एक है।

रियल एस्टेट कारोबारियों ने दी जानकारी

रियल एस्टेट कारोबारियों ने कुछ दिन पहले ही इस पूर्व मिसाइल कॉम्प्लेक्स(underground nuclear missile) को बिक्री के लिए पोस्ट किया है। ये इलाका टक्सन के उत्तर में लगभग 35 मील की दूरी पर 13 एकड़ के क्षेत्र में फैला हुआ है। इस परिसर में कभी भी लोग एक साथ नहीं रहे हैं। ये टाइटन-2 नामक अंतरमहाद्वीपीय बैलेस्टिक मिसाइल(intercontinental ballistic missile) को रखने के लिए बनाया गया था। ये वो मिसाइल थी जो 6000 मील दूर तक लक्ष्य को मार गिराने में सक्षम थी। ये परमाणु पेलोड पहुंचाती थी जोकि हिरोशिमा को मिटा देने वाले परमाणु बम की तुलना में 600 गुना अधिक शक्तिशाली थी। यह साइट 18 मिसाइल सिलोस में से एक थी जो 1960 के दशक की शुरुआत में टक्सन के आसपास बनाई गई थी, एरिजोना डेली स्टार के अनुसार, 1980 के दशक की शुरुआत में शीत युद्ध की समाप्ति के साथ ही इन मिसाइलों को खत्म कर दिया गया था। इसी के साथ ऐसी सभी साइटों पर मलबा और कंक्रीट डालकर उसे बंद कर दिया गया था।

रिक एलिस ने खरीदने का किया विचार

रिक एलिस ने इस जगह को खरीदने के लिए दिलचस्पी दिखाई, उनको इस अंडरग्राउंड मिसाइल के स्थान को खरीदने की कोई इच्छा नहीं थी वो इस जगह पर खरीदना चाहते थे। इसके लिए उन्होंने साल 2002 में उस परिवार को दो लाख डालर का भुगतान भी किया। इस परिवार ने इस जगह को लगभग चार दशक पहले सरकार से खरीदा था। उस परिवार ने इसके लिए सरकार को सिर्फ बीस हजार डॉलर का भुगतान किया था। एलिस का कहना है कि अब वो इस संपत्ति से ऊब गया है और इस संपत्ति को बेचकर उससे जो पैसे मिलेंगे वो उसे किसी दूसरी जगह पर निवेश करेगा। संपत्ति की अच्छी कीमत मिल सके इसके लिए एलिस ने एक प्रोफेशनल फोटोग्राफर से संपर्क किया और उससे इस पूरे कैंपस की फोटो खिंचवाई, उसके बाद इसे साइट पर अपलोड किया। जिससे लोगों को संपत्ति की असली चीजें पता चल सकें। इस अंडरग्राउंड मिसाइल स्थान पर जो भी चीजें थी, उसकी फोटो खिंचवाकर उसे अपलोड किया गया। 

खरीदने की इच्छा रखने वालों को कराया जा रहा टूर

प्रोपर्टी कारोबारी हैम्पटन ने बताया कि उनके कारोबार के लिए ये अब तक की सबसे अच्छी लिस्टिंग थी। इस परिसर में पहुंचने के लिए एकमात्र रास्ता यहां लगाए गए धातु के दरवाजे को खोलना था, उसी के बाद लोग इसके अंदर जा सकते हैं। यहां अंदर जाने और बाहर निकलने का एकमात्र यही रास्ता है। जब कोई इसमें अंदर उतर जाता है तो उसे एक बड़ा कमरा मिलता है, इन दिनों इसमें तमाम तरह के छोटे-मोटे जीव जंतु मरे हुए पड़े थे, उसकी सफाई कराई गई। हैम्पटन ने बताया कि अब इस कैंपस में सिर्फ उन्हीं लोगों को लेकर जाया जा रहा है जो इसको खरीदने के इच्छुक है और जिनके पास इसके लिए पर्याप्त मात्रा में पैसा है। इसके अलावा जो इसे देखना चाहते हैं उनसे पहले एक पेपर पर साइन करवाया जा रहा है। उसके बाद इसे देखने के लिए ले जाया जाता है।

डेटा को सुरक्षित रखने के लिए आदर्श जगह

एलिस ने कहा कि यह साइट को संवेदनशील डेटा को सुरक्षित रखने के भंडारण क्षेत्र के रूप में भी उपयोग किया जा सकता है। साइट खरीदने के कुछ समय बाद, एलिस ने कहा कि उसे बंकर को साफ करने के लिए लगभग 80,000 डॉलर और कागजी कार्रवाई के लिए 20,000 डॉलर खर्च करने की जरूरत है ताकि जमीन को व्यावसायिक उपयोग के लिए फिर से शुरू किया जा सके।

उन्होंने एक दशक से अधिक समय पहले संपत्ति को बेचने की योजना बनाई थी। यहां तक ​​कि संभावित खरीदारों की संख्या भी थी लेकिन इसी दौरान मंदी आ गई जिसकी वजह से ये नहीं बिक पाई। एलिस ने कहा कि उसने एक संभावित खरीदार को छोड़ दिया, उस खरीदार ने साइट को एक भूमिगत चिकित्सा मारिजुआना ग्रीनहाउस में बदलने की योजना बनाई थी। अब इसके लिए दूसरे खरीदार की तलाश की जा रही है। उम्मीद है कि पुरानी चीजों को देखने और ऐतिहासिक चीजों को समेटकर रखने वाले इसे जल्द खरीद लें। 

Posted By: Vinay Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप