वाशिंगटन (एजेंसी)। अमेरिका में सुरक्षा में बड़ी चूक का मामला सामने आया है। एक हैकर ने बड़ी आसानी से सुरक्षा में सेंध लगा कर अमेरिकी सेेेेना के संवेदनशील दस्तावेजों को डॉउनलोड कर लिया और उसे ऑनलाइन सेल पर बेच रहा था। स्थानीय मीडिया के अनुसार कोई डिफॉल्ट पासवर्ड को बदलना भूल गया था, जिसके कारण हैकर ने बड़ी आसानी से अमेरिका सेना का सिस्टम हैक कर लिया।

खबरों के अनुसार इन दस्तावेजों में एमक्यू-9 रीपर ड्रोन के रखरखाव मैनुअल, विस्फोटक उपकरणों (आइइडी) के लिए तैनाती रणनीति का वर्णन करने वाले प्रशिक्षण मैनुअल, टैंक प्लाटून रणनीति और एम-1 एबीआरएएमएस टैंक ऑपरेशन मैनुअल के विवरण जैसे दस्तावेज शामिल हैं। सिक्योरिटी फर्म रिकॉर्डेड फ्यूचर ने इन दस्तावेजों को खोजा और पाया कि इन्हें ऑनलाइन साइट पर बेचा जा रहा है। फर्म का कहना है कि हैकर ने दस्तावेजों को चुरा लिया था और वो इसे केवल 150 और 200 डॉलर में बेचा रहा था। सिक्योरिटी फर्म ने इस बात की जानकारी तुरंत अमेरिकी अधिकारियों को दी।

सुरक्षा फर्म ने कहा कि वह लोग हैकर की ऑनलाइन साइट से जुड़े हुए थे और तभी उन्होंने पाया कि हैकर ने इन दस्तावेजों को डॉउनलोड करने के लिए किसी विशेष प्रोग्राम और डिफॉल्ट पासवर्ड का इस्तेमाल किया। इस तरह हैकर ने नेवादा में क्रीक वायुसेना बेस से एमक्यू-9 रीपर मैनुअल चुरा लिया। अमेरिकी वायुसेना, अमेरिकी नौसेना, सीआइए, नासा व सीमा शुल्क और सीमा संरक्षण एजेंसियों के साथ-साथ अन्य विदेशी सेनाओं द्वारा रेपर ड्रोन का उपयोग किया जाता है। हैकर ने अभी तक यह नहीं बताया कि उन्हें अन्य दस्तावेज कहाँ से मिले लेकिन विशेषज्ञों को संदेह है कि उन्होंने इसे पेंटागन से चुराया था।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस