न्‍यूयार्क (प्रेट्र)। भारत में इंटरनेट को जन-जन तक पहुंचाने की अपनी योजना को गूगल ने सूचना व प्रसारण मंत्री रविशंकर प्रसाद को बताया है। दरअसल, गूगल ने भारत में तकनीकी भूमिका के साथ यहां के यूजर्स को सशक्‍त बनाने की योजना बनाई है।

गूगल ने बताया कि रविशंकर कैलिफोर्निया के माउंटेन व्‍यू स्‍थित गूगल मुख्‍यालय गए थे। उन्‍होंने वहां भारतीय मूल के गूगल सीईओ सुंदर पिचाई से मुलाकात की। साथ ही गूगल के लीडरशिप टीम के साथ भी उनकी मुलाकात हुई। इस दौरान उन्‍होंने भारतीय यूजर्स को सशक्‍त बनाने व भारत के सामने आने वाली चुनौतियों के समाधान में तकनीक की भूमिका पर चर्चा की। उनके साथ भारत में कंप्यूटर में भारतीय भाषाओ के प्रयोग तथा यांत्रिक बुद्धि के इस्तेमाल आदि के जरिए से देश के प्रत्‍येक व्यक्ति के लिए इंटरनेट का इस्तेमाल आसान बनाने और भारतीय यूजर्स को सशक्त बनाने की कंपनी की योजनाओं पर चर्चा की।

प्रसाद को भारत में हर जगह के लोगों के लिए इंटरनेट का इस्तेमाल आसान करने, भारतीय भाषाओं में कंप्यूटर के परिचालन, सामाजिक लाभ के लिए यांत्रिक बुद्धि आधारित समाधान तथा नौ प्रवर्तन आधारित सोच के आधार पर शुरू की गयी इकाइयों (स्टर्टअप्स) और मझोली इकाइयों की क्षमता बढ़ाने की गूगल की योजनाओं की जानकारी दी गई।

कैलिफोर्निया दौरे के दौरान प्रसाद ने अनेकों अग्रणी टेक्‍नोलॉजी और बिजनेस सीइओ व सीनियर एक्‍जीक्‍यूटीव के साथ बातचीत की। नासकॉम के अध्‍यक्ष देबजानी घोष ने विश्‍वास जाहिर किया कि भारत में डिजिटल परिवर्तन से निवेशकों के लिए दरवाजे खुलेंगे।

Posted By: Monika Minal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप