न्यूयार्क, रायटर्स। ब्रिटिश सोशलाइट घिसलीन मैक्सवेल को दिवंगत अमेरिकी फाइनेंसर और अपने प्रेमी जेफरी एपस्टीन के साथ मिलकर कम उम्र की लड़कियों का यौन शोषण करने में मदद करने के लिए मंगलवार को 20 साल जेल की सजा सुनाई गई। ब्रिटिश सोशलाइट को अपने ब्वायफ्रेंड के साथ मिलकर घिनौना काम करने का ठहराया गया था दोषी। 

सजा सुनाने के दौरान जज ने कहा कि यह एक 'भयानक योजना' थी, जिसने असंख्य लड़कियों को नुकसान पहुंचाया। 60 वर्षीय ब्रिटिश सोशलाइट को बीते दिसंबर में दोषी ठहराया गया था। उनपर 1994 से 2004 के बीच अपने ब्वायफ्रेंड जेफरी एपस्टीन के साथ मिलकर कम उम्र की लड़कियों को भर्ती करने, उन्हें तैयार करने, फिर उनकी यौन तस्करी का आरोप था। दरअसल इतनी लम्बी प्रक्रिया के पीछे घिसलीन मैक्लवेल और उसके प्रेमी की जो योजना थी, वह निस्संदेह पूंजी के उद्देश्य के लिए  बनाई गई थी। सूत्रों के अनुसार, ये दोनों मिलकर शहर भर में बड़े-बड़े लोगों को लोगों को लड़कियों की तस्करी करते थे।

घिसलीन मैक्सवेल पर आरोप है कि अपने प्रेमी के साथ मिलकर लम्बे समय से लड़कियों की तस्करी कर रही थी। ऐसे घिनौने पाप को देखते हुए ही अमेरिकी कोर्ट ने घिसलीन मैक्सवेल को 20 साल की बड़ी सजा दी है। सूत्रों का कहना है कि कोर्ट के द्वारा की गई यह कार्रवाई आने वाले समय के लिए एक नजीर होगी। ताकि कोई भी ऐसे जघन्य पाप करने की हिम्मत न करे।

मैनहट्टन कोर्ट में सुनवाई के दौरान मैक्सवेल ने कहा कि एपस्टीन एक चालाक और नियंत्रित करने वाला आदमी था, उसने सभी को मूर्ख बनाया। उल्लेखनीय है कि एपस्टीन ने मुकदमे की सुनवाई के दौरान 2019 में जेल में खुदकुशी कर ली थी। एक दशक से अधिक समय में उसने सैकड़ों बार बच्चों का यौन शोषण किया। अभियोजकों ने कहा कि वह अपने लंबे समय की साथी घिसलीन की मदद के बिना ऐसा नहीं कर सकता था।

Edited By: Deepak Yadav